Relince IPO: मुकेश अंबानी है LIC से भी बड़ा IPO लाने की तैयारी में , जानें क्या है रिलांयस Jio का प्‍लान!

 
LIC
अब तक का बससे बड़ा LIC का आईपीओ अगले हफ्ते देश में दस्‍तक दे रहा है। जिसमें सरकार अपनी 3.5 फीसद की हिस्‍सेदारी बेच रही है। सरकार की योजना इस आईपीओ से प्राइज बैंड के ऊपरी स्‍तर पर 21000 करोड़ रुपये जुटाने की है। मुकेश अंबानी रिलायंस जियो और रिलायंस रिटेल वेंचर्स के लिए इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) लॉन्च करने की तैयारी कर रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के अध्यक्ष कंपनी की वार्षिक आम बैठक (AGM) के दौरान आईपीओ को लेकर घोषणा कर सकते हैं। वहीं अब एक रिपोर्ट के अनुसार, मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो कंपनी का भी आईपीओ आने की तैयारी में है। अगर यह आता है तो यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा।
LIC
* अब तक भारत के बड़े आईपीओ :
भारत में 2021 के दौरान पेटीएम ने अपना आईपीओ 18,300 करोड़ रुपये का सबसे बड़ा आईपीओ पेश किया था। इसके पहले 2010 में कोल इंडिया लगभग 15,500 करोड़ रुपये और रिलायंस पावर 2008 में 11,700 करोड़ रुपये का आईपीओ पेश किया था।
* LIC IPO :
अब इस कड़ी में सबसे बडा आईपीओ भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का जुड़ने वाला है, जो अगले हफ्ते भारत में लॉन्‍च होगा। इसकी प्राइस बैंड के ऊपरी छोर पर सरकार एलआईसी के आईपीओ के जरिए करीब 21,000 करोड़ रुपये जुटाएगी। बता दें कि करीब 20,557 करोड़ रुपये के कम आकार के बाद भी एलआईसी का आईपीओ देश में अब तक का सबसे बड़ा आरंभिक सार्वजनिक निर्गम होने जा रहा है।
LIC ने डाक विभाग के साथ किया ऐतिहासिक समझौता
* कब तक हो सकता है रिलायंस जियो का आईपीओ लॉन्‍च :
रिलायंस जियो के शेयर अमेरिकी शेयर बाजार नैस्डैक में भी लिस्ट हो सकते हैं। टेक कंपनियों के लिए नैस्डैक दुनिया का सबसे बड़ा शेयर बाजार है। Reliance Jio IPO को Reliance Retail Ventures Limited के शेयरों के बाजार में आने के बाद, दिसंबर 2022 में लॉन्च किया जा सकता है।
* कितनी राशि जुटाने की योजना :
मुकेश अंबानी की मेगा योजना में उनके दूरसंचार उद्यम रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म (RJPL) और सहायक रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (RRVL) के लिए अलग प्रारंभिक शेयर बिक्री शामिल है। हिंदू बिजनेसा लाइन की रिपोर्ट के मुताबिक, दो कंपनियां आईपीओ में 50,000 करोड़ रुपये से लेकर 75,000 करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी में हैं। ऐसे में अब तक का यह सबसे बड़ा प्रारंभिक शेयर बिक्री वाला आईपीओ हो जाएगा।