Online Transactions: हो जाएं सावधान! घर आ सकता इनकम टैक्स का नोटिस अगर आप भी करते है कैश से ये काम

 
Pensal
भारत में अधिकतर लोग ऑनलाइन ट्रांजेक्शन (online transactions)करते है. इससे ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को काफी बढ़ावा मिल रहा है। आपकी बहुत सारी ट्रांजेक्शन ऐसी होती है. जिन पर इनकम टैक्स नजर हमेशा बनी रहती है। इन दिनों में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) कैश ट्रांजेक्शन को लेकर काफी अलर्ट हो गया गया है। अगर आप बैंक, म्यूचुअल फंड, ब्रोकरेज हाउस और प्रॉपर्टी रजिस्ट्रार के पास अगर आप बड़े कैश ट्रांजेक्शन करते हैं. तो उन्हें डिपार्टमेंट को सूचना देनी होती है। आज इस लेख के माधयम से आपको ऐसे ट्रांजेक्शन के बारे में बतायंगे जिनको आप केश करते हो तो आप परेशानी में पड़ सकते हो। आइये जानते है इनके बारे में विस्तार से। 
* प्रॉपर्टी से संबधिंत ट्रांजेक्शन :
अगर आप प्रॉपर्टी रजिस्ट्रार के पास कैश में बड़ी ट्रांजेक्शन करते हैं. तो इस बारे में रिपोर्ट इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास भी जाती है. अगर आप 30 लाख या उससे ज्यादा की प्रॉपर्टी को कैश में खरीदते या बेचते हैं. प्रॉपर्टी रजिस्ट्रार की ओर से इस मामले की जानकारी इनकम टैक्स को दी जाएगी. तो ऐसे में डिपार्टमेंट आपसे सवाल कर सकता है. इतनी बड़ी ट्रांजैक्शन कैश में करने के लिए आपके पास पैसे कहां से आए। 
Pensal
* क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान :
क्रेडिट कार्ड का बिल कई बार लोग कैश में जमा करते हैं.अगर आप एक बार में 1 लाख से ज्यादा कैश क्रेडिट कार्ड के बिल के तौर पर जमा करते हैं. तो डिपार्टमेंट आपसे सवाल कर सकता है. वहीं अगर आप आप एक वित्त वर्ष में 10 लाख रुपये से ज्यादा के क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कैश में करते हैं तो ऐसे में भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपसे इन पैसे के बारे में पूछ सकता है। 
* बैंक सावधि जमा (FD) :
अगर आप एक साल में एक बार या एक से अधिक बार में FD में अधिक मात्रा में पैसे कैश के जरिए जमा करते हैं. तो इनकम टेक्स डिपार्टमेंट आपसे पैसों से स्रोत के बारे में पूछ सकता है. आपको बता दें कि FD के लिए चेक या ऑनलाइन माध्यम से पैसे जमा करना करे। 
* शेयर, म्यूचुअल फंड, डिबेंचर और बॉन्ड की खरीद:
अगर आप डिबेंचर, शेयर, म्यूचुअल फंड और बॉन्ड में बड़ी मात्रा में कैश ट्रांजेक्शन करते हैं तो आपको परेशानी हो सकती है. आपको बता दें कि एक वित्त वर्ष में ऐसे इंस्ट्रुमेंट्स में अधिकतम 10 लाख रुपये तक की ही कैश ट्रांजेक्शन की जा सकती है. अगर आपको इनमें से किसी में पैसा लगाने का कोई प्लान है. तो आपको आपको बड़ी मात्रा में कैश का इस्तेमाल नहीं करना है। 
* बैंक बचत खाता जमा :
अगर आप एक वित्त वर्ष में अपने एक खाते से या एक से अधिक खाते में 10 लाख रुपये या उससे अधिक पैसे कैश में जमा करता है. तो डिपार्टमेंट पैसों से स्रोत को लेकर सवाल कर सकता है. चालू खातों में अधिकतम सीमा 50 लाख रुपये है।