यूजर्स की शिकायत पर Google ने हटाया 1.3 लाख खराब कंटेंट

 
y

विभिन्न गूगल प्लेटफ़ॉर्म पर लोग लोकल लाॅ और पर्सनल राइट्स का उल्लंघन करते हैं। हटाए गए अधिकांश कंटेंट कॉपीराइट वायलेशन (135,341) से संबंधित थे। जबकि अन्य श्रेणियों में ट्रेडमार्क, कोर्ट आर्डर, ग्राफिक सेक्शुअल कंटेंट, धोखाधड़ी और अन्य शामिल हैं। टेक जाइंट को इंडिविजुअल यूजर्स से 37,173 शिकायतें मिलीं, जो माना जाता है कि थर्ड पार्टी कंटेंट से संबंधित है।

देश से हटे 551,800 खाते
जून में, गूगल ने यूजर्स की शिकायतों के आधार पर 1,11,493 खराब कंटेंट को हटा दिया था। गूगल ने एक बयान में कहा कि अपने यूजर की रिपोर्ट के अलावा, हम हानिकारक कंटेंट को ऑनलाइन एनालाइजर करते हैं और हमारे प्लेटफॉर्म से इसका पता लगाने और हटाने का प्रयास करते हैं। कंपनी ने कहा कि उनकी आटोमेटेड डिटेक्शन प्रोसेस के रूप में, उसने देश में 551,800 अकाउंट को हटा दिया।

मंथली कमप्लेन रिपोर्ट देना होगा अनिवार्य
गूगल के मुताबिक अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के साथ, भारत में यूजर्स से प्राप्त शिकायतों पर की गई कार्रवाई तथा कार्रवाई के विवरण के साथ ऑटोमेशन डिटेक्शन रिपोर्ट प्रकाशित करना अनिवार्य है। नए आईटी ऐक्ट 2021 के तहत बड़े डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के 5 मिलियन से अधिक यूजर्स के साथ मंथली कमप्लेन रिपोर्ट भी प्रकाशित करनी अनिवार्य है।