Sports Update: पोलैंड के यान डूडा ने जीता ओस्लो ई-स्पोर्ट्स कप

 
cc

हैदराबाद: उस्मानिया विश्वविद्यालय का नाम देश के सबसे पुराने विश्वविद्यालयों में गिना जाता है. अब यह बताया गया है कि विश्वविद्यालय ने कथित तौर पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को "अराजनीतिक" यात्राओं के लिए परिसर का दौरा करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है, लेकिन कथित फैसले ने तेलंगाना में एक नया राजनीतिक विवाद खड़ा कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विश्वविद्यालय ने कार्यकारी समिति के कथित फैसले के बारे में लिखित में आयोजकों को कार्यक्रम के आयोजकों को सूचित नहीं किया है. वहीं कांग्रेस ने इसे लेकर तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) की राज्य सरकार पर हमला बोला है. वहीं, कुछ छात्रों ने राहुल के दौरे के लिए यूनिवर्सिटी को आदेश देने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. कांग्रेस नेताओं ने रविवार को कहा कि उन्होंने 23 अप्रैल को होने वाले कार्यक्रम के लिए अनुमति मांगी थी और उन्हें बताया गया कि यह कार्यक्रम 'अराजनीतिक' होगा।


 
रिपोर्ट के अनुसार एक अधिकारी ने जानकारी दी है कि वर्ष 2017 से कार्यकारी परिषद ने एक प्रस्ताव पारित किया था, जिसमें परिसर में राजनीतिक बैठकों सहित गैर शैक्षणिक गतिविधियों पर रोक लगा दी गई थी. अधिकारी ने कहा कि ऐसा प्रस्ताव जून 2017 में अपनाया गया था। उन्होंने कहा कि एक साल पहले उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को विश्वविद्यालय परिसर में राजनीतिक और सार्वजनिक सभाओं की अनुमति नहीं देने का आदेश दिया था। दरअसल, उस दौरान राजनीतिक गतिविधियों को लेकर लगातार चल रही समस्या को लेकर याचिका दायर की गई थी.