बजरंगबली के बहुत बड़े भक्त हैं केशव महाराज, पिता आत्माानंद भी रह चुके हैं क्रिकेटर

 
vv

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ पांच मैचों की टी20 सीरीज के फाइनल मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका टीम की कप्तानी स्पिनर केशव महाराज को सौंपी गई. केशव महाराज भारतीय मूल के क्रिकेटर हैं, जो दक्षिण अफ्रीका टीम के लिए खेलते हैं। यह भी संयोग है कि उन्होंने उसी धरती पर भारत के खिलाफ कप्तानी भी की। हालांकि सीरीज का फाइनल मैच बारिश के कारण बेनतीजा रहा। इसी साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर भारतीय क्रिकेट टीम को वनडे सीरीज में करारी हार का सामना करना पड़ा था. उस वक्त केशव महाराज ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा 'जय श्री राम'। इसके बाद से केशव सोशल मीडिया पर छा गए हैं।

बता दें कि केशव महाराज हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त हैं। भारतीय मूल के केशव दक्षिण अफ्रीका में रहते हैं, लेकिन पूरी तरह से भारतीय रीति-रिवाजों का पालन करते हैं। सभी हिंदू भी त्योहार मनाते हैं। उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से भी केशव महाराज का भारत से गहरा नाता है। दरअसल, केशव के पिता आत्माानंद महाराज ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके पूर्वज सुल्तानपुर के रहने वाले थे। 1874 में उनके पूर्वज अच्छी नौकरी की तलाश में भारत से डरबन आए। उस समय अफ्रीका में काफी मौके थे। तब अफ्रीका को कुशल मजदूरों की जरूरत थी और भारतीयों को खेती का अच्छा अनुभव था।

बता दें कि केशव महाराज के परिवार में कुल 4 सदस्य हैं। जिसमें उनके माता-पिता और एक बहन हैं। उनकी बहन की शादी श्रीलंका के एक शख्स से हुई है। आत्मानंद ने बताया था कि हम अपने परिवार की 5वीं या 6वीं पीढ़ी हैं। उपनाम 'महाराज' मेरे पूर्वजों की देन है। हम भारत में एक नाम के महत्व को जानते हैं। बता दें कि केशव के पिता आत्मानंद भी क्रिकेटर रह चुके हैं। वह घरेलू क्रिकेट में विकेटकीपर थे। हालांकि, आत्मानंद को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका कभी नहीं मिला, क्योंकि तब अफ्रीका में क्रिकेट की शुरुआत नहीं हुई थी।