फीफा विश्व कप के दौरान कतर पर हमले की योजना बना रहा ईरान- रिपोर्ट

 
f

तेहरान: इस्लामिक देश ईरान एक और इस्लामिक देश कतर में चल रहे फीफा वर्ल्ड कप पर हमला करने वाला था. हालांकि ईरान शिया इस्लाम और कतर सुन्नी इस्लाम को मानता है, यह भी दोनों के बीच विवाद का एक कारण है। इस हमले के जरिए ईरान फीफा विश्व कप के आयोजन को खराब करना चाहता था। जेरूसलम पोस्ट ने इजरायली रक्षा बल के सैन्य खुफिया प्रमुख के हवाले से यह दावा किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेजर जनरल अहरोन हलीवा ने तेल अवीव में नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर सिक्योरिटी स्टडीज (INSS) के एक सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने कहा है कि ईरान को आतंकवादी हमला करने से रोकने वाली एकमात्र चिंता यह थी कि मेजबान देश कतर इस पर कैसे प्रतिक्रिया देगा। उल्लेखनीय है कि कतर में पिछले रविवार से फुटबाल विश्व कप की शुरुआत हुई थी। यह टूर्नामेंट 19 दिसंबर तक खेला जाएगा। टूर्नामेंट में भाग लेने वाले 32 देशों में ईरान शामिल है। ईरान की फुटबॉल टीम ने सोमवार को इंग्लैंड के खिलाफ अपने मैच से पहले अपना राष्ट्रगान भी नहीं गाया। ईरान में लंबे समय से हिजाब विरोधी प्रदर्शन चल रहे हैं. ईरान के खिलाड़ियों ने विरोध के समर्थन में राष्ट्रगान नहीं गाया।


रिपोर्ट के मुताबिक, मेजर जनरल अहरोन हलीवा ने कहा है कि ईरानी सरकार सत्ता को लेकर चिंतित थी। हिजाब को लेकर देश में लगातार बढ़ रहे प्रदर्शनों के साथ-साथ इसे पश्चिमी देशों के प्रतिबंध का भी सामना करना पड़ रहा है.