IPL 2022: दिल्ली के इस बड़े खिलाड़ी को कानून तोड़ने पर तगड़े जुर्माने के साथ मिली सजा!

 
Show
टीम इतने घोर संकट में है बावजूद इसके खिलाड़ी है कि अनुशासन तोड़ने से बाज नहीं आ रहे. ताजा मामला जिस खिलाड़ी से जुड़ा है उस पर कानून तोड़ने के लिए तगड़ा जुर्माना लगा है. लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ मैच में इस खिलाड़ी को गलत व्यवहार का दोषी पाया गया है. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के लिए फिलहाल कुछ भी अच्छा नहीं चल रहा. ना टीम ढंग से मैच जीत रही है और ना ही उसके खिलाड़ी वैसा परफॉर्म कर पा रहे हैं. यही वजह है कि आईपीएल 2022 (IPL 2022) में उसकी हालत पतली है. उसी की सजा इसे 1 मई को खेले मुकाबले के बाद मिली है. अनुशासन तोड़ने वाले दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी का नाम पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) है. खबर के मुताबिक लखनऊ से मैच के दौरान पृथ्वी शॉ ने क्रिकेट से जुड़े कानूनों का उल्लंघन किया, जिसके लिए उन्हें पहले तो फटकार लगाई गई फिर मैच फीस का 25 फीसद जुर्माना भी ठोक दिया गया।
* दिल्ली की हार में पृथ्वी का खेल बेकार :
Show
लखनऊ ने पहले खेलते हुए दिल्ली के सामने 196 रन का लक्ष्य रखा था. लेकिन दिल्ली की टीम 20 ओवरों में 7 विकेट पर सिर्फ 189 रन ही बना सकी. दिल्ली की इस हार में मैच के दौरान दोषी पाए गए पृथ्वी शॉ का खेल भी बेकार रहा. ओपनिंग करने उतरे पृथ्वी शॉ ने 7 गेंदों का सामना करते हुए सिर्फ 5 रन बनाए. उनके जल्दी आउट होने से टीम को खराब शुरुआत मिली जो कि हार की बड़ी वजह बनी।
* आचार संहिता के तहत लेवल 1 के दोषी हैं पृथ्वी शॉ :
Show
लखनऊ और दिल्ली के मैच के बाद IPL ने एक बयान जारी किया जिसके मुताबिक, ” पृथ्वी शॉ ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2 के तहत लेवल 1 का अपराध स्वीकार कर लिया है. इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स को IPL 2022 में अपनी 5वीं हार से दो-चार होना पड़ा. ये हार उसे लखनऊ सुपर जायंट्स के हाथों मिली. लखनऊ ने दिल्ली को 6 रन से हराते हुए टूर्नामेंट में 5वीं हार रसीद की. अब तक खेले 9 मैचों में 5वीं हार के साथ दिल्ली की टीम अंक तालिका में छठे नंबर पर बरकरार है. आचार संहिता के तहत जो भी खिलाड़ी लेवल 1 का दोषी पाया जाता है, उसे लेकर फैसला करने का अंतिम अधिकार मैच रेफरी का होता है. किसी विरोधी खिलाड़ी या अंपायर के खिलाफ किसी भी प्रकार का इशारा करना लेवल 1 का अपराध माना जाता है।