एएफआई ने हरिचंद के निधन पर शोक व्यक्त किया

 
cc

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने लंबी दूरी के धावक हरिचंद के निधन पर शोक व्यक्त किया है। दो बार के ओलंपियन (1976, 1980) 69 वर्षीय हरिचंद का रविवार शाम निधन हो गया। उन्होंने 1978 के एशियाई खेलों में 5000 मीटर और 10000 मीटर में स्वर्ण पदक जीते और 1975 के एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 10000 मीटर में भी स्वर्ण पदक जीता।

उनका 10000 मीटर में 28:48:72 है राष्ट्रीय रिकॉर्ड 32 साल तक बना रहा जिसे बाद में सुरेंद्र सिंह ने तोड़ा। एएफआई अध्यक्ष आदिले सुमरीवाला ने शोक संदेश में कहा- 1980 के ओलंपिक में मेरे साथी हरि चंद भारतीय खेलों के दिग्गज थे। मैं और पूरा खेल जगत उनके निधन से दुखी है। यह खेलों के लिए अपूरणीय क्षति है।
 
पंजाब के होशियारपुर जिले के गोरेवाहा गांव के रहने वाले हरिचंद ने 1970 में राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पहली बार 3000 मीटर की दौड़ जीती थी। अच्छे धावकों के साथ अभ्यास करने के लिए वह केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल में मुख्य कांस्टेबल बन गए हैं। छोटे कद का होने के बावजूद उन्होंने अपने बल से लंबी दूरी की दौड़ जीती।