फेसबुक ने दो साल में हिंसक पोस्ट के खिलाफ की बड़ी कार्रवाई

Thursday, 19 Sep 2019 03:18:35 PM

दुनिया के लोकप्रिय सोशल मीडिया ऐप फेसबुक ने दो साल में अपने मंच से 2.60 करोड़ आतंकवादी संगठनों के पदों को सख्ती से हटा दिया है। आईएसआईएस और अलकायदा के ज्यादातर पद इसमें थे। फेसबुक ने बड़े स्तर पर अपने प्लेटफॉर्म पर इन संगठनों के समूहों की खोज की है। कंपनी ने अब तक 200 से अधिक हिंसक पोस्ट को हटा दिया है। इसके अलावा, आतंकवादी समूहों के खातों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

फेसबुक ने अपने बयान में कहा है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मानव विशेषज्ञता की मदद से हमने आतंकी पोस्ट डिलीट किए हैं। साथ ही, कंपनी ने क्राइस्टचर्च, न्यूजीलैंड में हमले के बाद ही कुछ पोस्ट हटा दिए थे। फेसबुक ने आगे कहा है कि इन आतंकवादी संगठनों ने हमारे प्लेटफार्मों के माध्यम से कट्टरता फैलाने की कोशिश की थी। इसके अलावा नवंबर में फेसबुक ने हिंसक पोस्ट को प्रतिबंधित करने के लिए नए नियम भी लागू किए।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फेसबुक दुनिया की प्रमुख टेक कंपनी Google, Amazon, Microsoft और Twitter के साथ मिलकर 9 पॉइंट इंडस्ट्री का प्लान तैयार कर रही है। इस प्लान के जरिए कंपनी को इस प्लेटफॉर्म पर आतंक से जुड़ी सामग्री कैसे साझा की जाती है, इसकी जानकारी मिलेगी। वहीं, फेसबुक ने कहा है कि हमें अपनी नीतियों में लगातार बदलाव करना होगा, ताकि हिंसक पोस्टों को रोका जा सके। साथ ही हमें बुराई फैलाने वाले पदों के खिलाफ कड़े कदम उठाने होंगे। न्यूजीलैंड में आतंकवादी हमले के एक वीडियो ने फेसबुक की सुरक्षा प्रणाली का संकेत नहीं दिया, क्योंकि इससे पहले उपयोगकर्ताओं ने इस प्लेटफॉर्म पर हिंसक सामग्री को नहीं देखा था। वहीं, फेसबुक का मशीन लर्निंग सिस्टम भी इसे रोक नहीं पाया। फेसबुक इस तरह की सामग्री पर अंकुश लगाने के लिए अमेरिका और ब्रिटेन के साथ काम कर रहा है।