शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला; 'विरोध के लिए सार्वजनिक स्थानों का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा'

Wednesday, 07 Oct 2020 12:32:31 PM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को शाहीन बाग मामले में फैसला सुनाया। शीर्ष अदालत ने कहा कि किसी भी सार्वजनिक स्थान का इस तरह विरोध प्रदर्शन के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है और सड़क को अनिश्चित काल के लिए अवरुद्ध नहीं किया जा सकता है। इस प्रकार के मामले में प्रशासन को कार्रवाई करनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विरोध करने का अधिकार संविधान में है लेकिन विरोध का एक निश्चित स्थान होना चाहिए।

साधारण लोगों को विरोधों से परेशान नहीं होना चाहिए। अदालत ने उम्मीद जताई है कि भविष्य में ऐसी स्थितियां नहीं बनेंगी। सर्वोच्च न्यायालय ने स्पष्ट किया कि यदि ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है तो प्रशासन को स्वयं कार्रवाई करनी चाहिए। किसी को अदालत के आदेश का इंतजार नहीं करना चाहिए।

इसके साथ ही, अदालत ने कहा कि ऐसी स्थिति में, सोशल मीडिया के प्रचार के माध्यम से, स्थिति बिगड़ने का खतरा है। अब देखना यह है कि इस मामले पर क्या निर्णय लिया जाता है, वर्तमान में, सार्वजनिक स्थानों पर प्रदर्शन करने पर प्रतिबंध है। अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता है, तो उस पर भी कार्रवाई हो सकती है।