National poet Maithili Sharan Gupt की जयंती पर शिवराज ने मुख्यमंत्री को नमन किया

Tuesday, 03 Aug 2021 11:32:59 AM

भोपाल : राष्ट्रीय कवि मैथिली शरण गुप्त की आज जयंती है. इस मौके पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें नमन किया है. दरअसल, मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया है: "राष्ट्रीयता के नायक और आधुनिक भारत के सच्चे राष्ट्रीय कवि श्री मैथिली शरण गुप्त जी की जयंती पर नमन। आपकी कविता ने देशभक्ति की भावना को जगाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। देशवासियों का दिल, पंचवटी, यशोधरा, साकेत जैसी कालातीत रचनाएं साहित्य जगत को सदैव शोभा देंगी।''

उनके अलावा मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा: "राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त को उनकी जयंती पर नमन। कुछ काम करो, कुछ काम करो, दुनिया में रहो और कुछ नाम बनाओ। इस जन्म का अर्थ क्या है? समझो कि यह व्यर्थ नहीं है। । शरीर के अनुकूल कुछ करो, पुरुष होने के लिए, मन को निराश न करने के लिए।- मैथिली शरण गुप्त।"

आप सभी को यह भी बता दें कि हिंदी साहित्य में खड़ी बोली की शुरुआत करने वाले कवि मैथिली शरण गुप्त को महात्मा गांधी ने 'राष्ट्रकवि' की उपमा दी थी. मैथिली शरण गुप्त जी का जन्म 3 अगस्त 1886 को उत्तर प्रदेश के झांसी में हुआ था और उनका ध्यान शुरू से ही नहीं पढ़ा गया था। इस वजह से उसकी पढ़ाई पूरी नहीं हो पाई। उन्होंने घर पर ही हिंदी, बंगाली, संस्कृत साहित्य का अध्ययन किया और कम उम्र में ही ब्रजभाषा में कविताएँ लिखना शुरू कर दिया। आप सभी को बता दें कि मैथिली शरण गुप्त को उनकी रचना 'साकेत' पर हिंदी साहित्य सम्मेलन द्वारा 'मंगलप्रसाद पुरस्कार पुरस्कार' से सम्मानित किया गया था. वही वर्ष 1945 ई. मैथिली शरण गुप्त को भारत सरकार द्वारा 'पद्म भूषण' पुरस्कार से सम्मानित किया गया।