loading...

पुलवामा हमले के एक साल, लेकिन शहीद का परिवार अभी भी सरकारी मदद का इंतजार कर रहा है

Thursday, 13 Feb 2020 04:05:12 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...

बुलदाना: पुलवामा आतंकी हमले के एक साल बाद भी शहीद जवानों के परिवार के जख्म ठीक नहीं हुए हैं। पुलवामा हमले में मारे गए महाराष्ट्र के बुलडाना जिले के अंतर्गत वीरपंगरा गाँव के नितिन राठौर का परिवार इस सदमे से उबर नहीं पाया है। नितिन के ग्रामीणों और परिवार की मांग है कि पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाया जाना चाहिए।

Image result for One year of Pulwama attack, but the martyr's family is still waiting for government help
नितिन की मां सावित्री राठौर ने कहा कि हम एक साल से रो रहे हैं। मुझे नितिन की बहुत याद आती है। हम आज भी उसकी राह देखते हैं। नितिन के पिता शिवाजी राठौर ने कहा कि नितिन की शहादत के बाद, सरकार ने हमारे परिवार को 5 एकड़ जमीन, पेट्रोल पंप, एक करोड़ का बंगला देने का वादा किया था, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ है। नितिन के शिक्षक एमएस चौहान बताते हैं कि राठौड़ परिवार ने अपने बेटे को देश के लिए खो दिया।

Image result for One year of Pulwama attack, but the martyr's family is still waiting for government help
उन्होंने कहा कि नितिन के शहीद होने के बाद सरकार ने राठौड़ परिवार से कुछ वादे किए थे, जिन्हें उन्हें पूरा करना चाहिए। गांव के लोगों का कहना है कि सरकार को पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए, अगर वह हमारे एक जवान को मार देता है, तो हमें उसके 10 जवानों को मार देना चाहिए। गाँव के नेहरू चौहान ने कहा कि नितिन सबके साथ मिलकर रहता था। नितिन शहीद हो गए, यह हमारे लिए बहुत दुख की बात है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...