UP ही नहीं दुबई और थाईलैंड में भी है विकास दुबे की प्रॉपर्टी, हर महीने करता था 50 लाख की उगाही

Saturday, 11 Jul 2020 03:49:28 PM

नई दिल्ली। सामान्य आदमी अगर दो लाख रुपए अघोषित रूप से जमा कर दे तो आयकर विभाग का नोटिस पहुंच जाता है और छोटा सा जमीन का टुकड़ा बेचकर देखिए। बरसों बाद भी कैपिटल गेन का नोटिस आ जाएगा लेकिन विकास दुबे ने केवल एक बैंक खाते से करोड़ों रुपए का लेनदेन कर रहा था और आयकर विभाग को खबर तक नहीं लगी। एक हफ्ते पहले कानपुर के चौबेपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को पुलिस ने शुक्रवार को ही एनकाउंटर में मार गिराया। इसके बाद ईडी ने पुलिस से उसकी संपत्ति की जानकारी मांगी है. विकास दुबे का बड़ा बेटा विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है. अब वह लखनऊ लौट आया है. लखनऊ लौटने के बाद वह अपनी दादी से मिलने पहुंचा है.


विकास के एनकाउंटर के बाद से ही इस बात पर राजनीति जारी है कि उसकी मौत के बाद राजनीति और पुलिस महकमे से जुड़े कई राज अब उसी के साथ दफन हो जाएंगे। हालांकि, जांच एजेंसियां इतनी आसानी से विकास दुबे के मामले को नहीं छोड़ना चाहती। बताया गया है कि प्रवर्तन निदेशालय ने विकास दुबे के रियल एस्टेट के धंधे की जांच शुरू कर दी है। इतना ही नहीं गैंग में शामिल उसके साथियों की प्रॉपर्टी की भी जांच की जाएगी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, विकास दुबे के एक सहयोगी ने दुबई और थाईलैंड में पेंटहाउस खरीदे थे जिसकी कीमत 30 करोड़ रुपए है। विकास दुबे ने पिछले तीन सालों में 14 देशों का यात्रा की। हाल ही में उसने लखनऊ में एक घर खरीदा है जिसकी कीमत 20 करोड़ रुपए से ऊपर है। इसके अलावा कानपुर के अंदर ब्रह्मनगर में छह मकान, आर्यनगर के एक अपार्टमेंट में आठ फ्लैट और पनकी में एक ड्यूप्लैक्स कोठी की जानकारी मिल चुकी है। इनकी अनुमानित कीमत 28 करोड़ रुपए बताई जा रही है। विकास और उसके सहयोगी के बीच बैंक के जरिए लेनदेन के ठोस सबूत मिल चुके हैं। इसके बावजूद आयकर विभाग को खबर नहीं लगी जबकि प्रदेश में बेनामी विंग की शाखा केवल कानपुर में है।

loading...