मेरठ के अस्पताल में पैदा हुए जुड़वा बच्चों ने माता-पिता का नाम संगरोध और सैनिटाइज़र रखा

Wednesday, 27 May 2020 09:46:48 AM

मेरठ: वैश्विक महामारी कोरोनावायरस ने पूरे देश में कहर मचा रखा है। यूपी भी इससे अछूता नहीं है, कोरोना की वजह से तालाबंदी चल रही है और ऐसे में यूपी के मेरठ से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां एक दंपति ने अपने नवजात जुड़वां बच्चों का नाम क्वारेंटाइन और सेनिटाइज़र रखा है। मेरठ के मोदीपुरम इलाके के अंतर्गत परबसा गांव की रहने वाली एक महिला ने शनिवार को एक निजी अस्पताल में जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

धर्मेंद्र कुमार की पत्नी रेनू का पल्लवपुरम में एक महिला डॉक्टर की देखरेख में इलाज चल रहा था। शनिवार को धर्मेंद्र ने प्रसव के दर्द के बाद महिला डॉक्टर से बात की, लेकिन कोरोनोवायरस के डर के कारण महिला डॉक्टर ने प्रसव से इनकार कर दिया। जब उसकी दूसरी महिला डॉक्टर से बात की गई, तो वह इलाज के लिए तैयार हो गई। धर्मेंद्र ने अपनी पत्नी को दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया जहां महिला ने दो स्वस्थ बेटों को जन्म दिया। धर्मेंद्र ने बताया कि उन्होंने अपने दो बच्चों का नाम क्वारेंटाइन और सेनिटाइज़र रखा है। जब इस बात की खबर गाँव में फैली तो कई लोग ऐसा नाम सुनकर हैरान रह गए, लेकिन इस बीच लोग भी खुश दिखाई दिए।

बच्चों के माता-पिता का कहना है कि देश में कोरोनोवायरस संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। बीमार लोगों का इलाज उन्हें संगरोध केंद्रों में भेजकर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए बच्चों को सैनिटाइजर और संगरोध नाम दिया गया है। एक महीने पहले बच्चे का नाम सहारनपुर के एक निजी अस्पताल में सैनिटाइजर रखा गया था।

loading...