loading...

भारत के कुछ व्यक्ति जो फर्श से अर्श तक पहुंचे ओर फिर वापिस फर्श पर आ गए

Tuesday, 21 Jan 2020 01:20:55 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...

क्या आप भारत के कुछ ऐसे व्यक्तियों के बारे में विस्तार से बता सकते हैं जो अर्श से फर्श तक पहुंचे फिर वापस अर्श से फर्श पर आ गए?

various source image

मेरी नजर में भारत में ऐसे दो व्यक्ति हैं जो पहले फर्श से उठकर अर्श तक गए और फिर वापस अर्श से फर्श पर पहुंच गए।

इनमें एक है सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय और दूसरे किंगफिशर के मालिक विजय माल्या।

# सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय

सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय 1988 में मात्र 2000 से अपना बिजनेस शुरू किया था और उस वक्त वह लैंब्रेटा स्कूटर से घूमते थे वह लेम्बी स्कूटर आज भी उन्होंने अपनी सहारा इंडिया के लखनऊ ऑफिस में रखा है।

देखते ही देखते वह सफलता की बुलंदियों पर पहुंच गए और इतनी ऊंचाई पर पहुंच गए कि भारत में आने वाला किसी भी देश का राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री उनसे जरूर मिलता था

और जब वह लखनऊ में पार्टी देते थे तब बड़े-बड़े फिल्मी सितारे क्रिकेटर और आज नेता वहां आते थे और उन्होंने जिस भी बिजनेस में हाथ डाला जैसे एविएशन हो या फिर होटल हो सभी में वह सफल हुए।

various source image

देखते ही देखते उन्होंने विश्व के 40 देशों में अपना कारोबार फैला लिया और न्यूयॉर्क, लंदन सहित विश्व के 15 बड़े शहरों में सेवन स्टार होटल बना दिया।

लेकिन उन्होंने जिस छल कपट से पैसा बनाया यानी पब्लिक को बहुत ज्यादा ब्याज का लालच देकर पैसा लिया और जब मैच्युरिटी टाइम के बाद पैसा वापस देने का वक्त आया तब उन्होंने हाथ खड़े कर लिए और उन्हें फ्रॉड और कई केस में गिरफ्तार किया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका कई बार खारिज कर दी और तिहाड़ जेल में डाल दिया।

# ऐसे ही दूसरे व्यक्ति हैं विजय माल्या

बहुत छोटे पैमाने पर अपना कारोबार शुरू किया फिर शराब के कारोबार में उतरे तो एक के बाद एक दुनिया की बड़ी-बड़ी ब्रांड को खरीदते गए फिर एविएशन इंडस्ट्री में उतरे किंगफिशर एयरलाइन शुरू की इतना ही नहीं वह दुनिया के कई मॉडलों को लेकर कैलेंडर बनाते थे और कहते हैं कि उस कैलेंडर शूट में वह करोड़ों रुपए खर्च करते थे और वह कैलेंडर वह अपने चुनिंदा दोस्तों को गिफ्ट देते थे।

क्या आप भारत के कुछ ऐसे व्यक्तियों के बारे में विस्तार से बता सकते हैं जो अर्श से फर्श तक पहुंचे फिर वापस अर्श से फर्श पर आ गए?

various source image

मेरी नजर में भारत में ऐसे दो व्यक्ति हैं जो पहले फर्श से उठकर अर्श तक गए और फिर वापस अर्श से फर्श पर पहुंच गए।

इनमें एक है सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय और दूसरे किंगफिशर के मालिक विजय माल्या।

# सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय

सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय 1988 में मात्र 2000 से अपना बिजनेस शुरू किया था और उस वक्त वह लैंब्रेटा स्कूटर से घूमते थे वह लेम्बी स्कूटर आज भी उन्होंने अपनी सहारा इंडिया के लखनऊ ऑफिस में रखा है।

देखते ही देखते वह सफलता की बुलंदियों पर पहुंच गए और इतनी ऊंचाई पर पहुंच गए कि भारत में आने वाला किसी भी देश का राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री उनसे जरूर मिलता था

और जब वह लखनऊ में पार्टी देते थे तब बड़े-बड़े फिल्मी सितारे क्रिकेटर और आज नेता वहां आते थे और उन्होंने जिस भी बिजनेस में हाथ डाला जैसे एविएशन हो या फिर होटल हो सभी में वह सफल हुए।

various source image

देखते ही देखते उन्होंने विश्व के 40 देशों में अपना कारोबार फैला लिया और न्यूयॉर्क, लंदन सहित विश्व के 15 बड़े शहरों में सेवन स्टार होटल बना दिया।

लेकिन उन्होंने जिस छल कपट से पैसा बनाया यानी पब्लिक को बहुत ज्यादा ब्याज का लालच देकर पैसा लिया और जब मैच्युरिटी टाइम के बाद पैसा वापस देने का वक्त आया तब उन्होंने हाथ खड़े कर लिए और उन्हें फ्रॉड और कई केस में गिरफ्तार किया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका कई बार खारिज कर दी और तिहाड़ जेल में डाल दिया।

# ऐसे ही दूसरे व्यक्ति हैं विजय माल्या

बहुत छोटे पैमाने पर अपना कारोबार शुरू किया फिर शराब के कारोबार में उतरे तो एक के बाद एक दुनिया की बड़ी-बड़ी ब्रांड को खरीदते गए फिर एविएशन इंडस्ट्री में उतरे किंगफिशर एयरलाइन शुरू की इतना ही नहीं वह दुनिया के कई मॉडलों को लेकर कैलेंडर बनाते थे और कहते हैं कि उस कैलेंडर शूट में वह करोड़ों रुपए खर्च करते थे और वह कैलेंडर वह अपने चुनिंदा दोस्तों को गिफ्ट देते थे।

various source image

मुंबई में कई बंगले, आलीशान याट, निजी जेट मतलब दुनिया भर की रईसी भोगी, राज्यसभा के सांसद भी बने लेकिन पता चला कि विजय माल्या की इस रईसी के पीछे भारत के सरकारी बैंकों का अंधाधुंध लोन था यानी विजय माल्या के जीवन का सिद्धांत था की कर्जा लेकर घी पियो और जब कर्ज चुकाने में नाकाम हुए तब देश छोड़कर लंदन भाग गए।

लंदन में भी उनके ऊपर काफी शिकंजा है उनके सारे खाते फ्रीज हो चुके हैं उन्हें कई बार लंदन की मेट्रो ट्रेन में खड़े होकर सफर करते देखा जा सकता है क्रिकेट के शौकीन माल्या जो कभी अपने फिल्मी सितारे दोस्तों के साथ बकायदा पर्सनल केबिन में बैठकर क्रिकेट देखा करते थे आज आम दर्शकों की तरह क्रिकेट देखते हैं।

इन दोनों लोगों का एक प्रत्यय उदाहरण है कि लोग फर्श से अर्श तक पहुंचे फिर वापस अर्श से फर्श पर पहुंच गए

various source image

मुंबई में कई बंगले, आलीशान याट, निजी जेट मतलब दुनिया भर की रईसी भोगी, राज्यसभा के सांसद भी बने लेकिन पता चला कि विजय माल्या की इस रईसी के पीछे भारत के सरकारी बैंकों का अंधाधुंध लोन था यानी विजय माल्या के जीवन का सिद्धांत था की कर्जा लेकर घी पियो और जब कर्ज चुकाने में नाकाम हुए तब देश छोड़कर लंदन भाग गए।

लंदन में भी उनके ऊपर काफी शिकंजा है उनके सारे खाते फ्रीज हो चुके हैं उन्हें कई बार लंदन की मेट्रो ट्रेन में खड़े होकर सफर करते देखा जा सकता है क्रिकेट के शौकीन माल्या जो कभी अपने फिल्मी सितारे दोस्तों के साथ बकायदा पर्सनल केबिन में बैठकर क्रिकेट देखा करते थे आज आम दर्शकों की तरह क्रिकेट देखते हैं।

इन दोनों लोगों का एक प्रत्यय उदाहरण है कि लोग फर्श से अर्श तक पहुंचे फिर वापस अर्श से फर्श पर पहुंच गए

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...