US ने भारत को बताया सच्चा मित्र, वैश्विक समुदाय की मदद करने पर की तारीफ

Sunday, 24 Jan 2021 09:31:24 PM

कोरोना वायरस महामारी के शुरू होने के बाद से ही भारत लगातार वैश्विक समुदाय की मदद कर रहा है. भारत की ओर से कई देशों को वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है, तो इससे पूर्व भारत ने जरूरी दवाएं भी मुहैया करवाई हैं. इसे लेकर अब अमेरिका ने भारत को अपना सच्चा बताते हुए उसकी तारीफ की है. जो बाइडेन प्रशासन ने दक्षिण एशिया के कई देशों को कोविड-19 वैक्सीन की आपूर्ति करने के लिए भारत की सराहना की है. अमेरिका ने भारत को ‘एक सच्चा दोस्त’ बताया है, जो वैश्विक समुदाय की मदद के लिए अपने फार्मास्युटिकल क्षेत्र का उपयोग कर रहा है. अमेरिका के विदेश विभाग के दक्षिण एवं मध्य एशिया मामलों के ब्यूरो की ओर से इसे लेकर एक ट्वीट किया गया है.

इस ट्वीट में कहा गया है, ‘हम वैश्विक स्वास्थ्य में भारत की भूमिका की सराहना करते हैं, जिसने दक्षिण एशिया में कोविड-19 वैक्सीन की लाखों डोज साझा की हैं. भारत की ओर से वैक्सीन की मुफ्त खेप की आपूर्ति मालदीव, भूटान, बांग्लादेश और नेपाल के साथ शुरू हुई और यह दूसरों के लिए भी विस्तारित होगी. भारत एक सच्चा मित्र है जो वैश्विक समुदाय की मदद के लिए अपने फार्मास्युटिकल क्षेत्र का उपयोग कर रहा है.

नेपाल, बांग्लादेश, भूटान और मालदीव को भारत ने अपनी ‘पड़ोसी पहले’ नीति के तहत अनुदान सहायता के तौर पर कोविड-19 वैक्सीन भेजी हैं. भारत कोरोना वायरस टीकाकरण का अभियान पहले ही बड़े पैमाने पर शुरू कर चुका है, जिसके तहत देशभर में दो वैक्सीन- कोविशील्ड और कोवैक्सीन फ्रंटलाइन कर्मियों को दी जा रही हैं. भारत ने भूटान को कोविशील्ड वैक्सीन की 150,000 डोज और मालदीव को 100,000 डोज भेजी हैं, जबकि बांग्लादेश को कोविड-19 वैक्सीन की 20 लाख से अधिक डोज और नेपाल को 10 लाख डोज भेजी गई हैं.