France report: राफेल सौदे में भारतीय बिचौलियों को उपहार के रूप में 8 करोड़ रुपये मिले

Monday, 05 Apr 2021 12:33:02 PM

नई दिल्ली: भारत और फ्रांस के बीच राफेल फाइटर जेट सौदे में एक बार फिर भ्रष्टाचार की खबर आ रही है। एक फ्रांसीसी प्रकाशन ने दावा किया है कि राफेल का निर्माण करने वाली फ्रांसीसी कंपनी डसॉल्ट एविएशन को भारत में एक बिचौलिए को एक उपहार के रूप में एक मिलियन यूरो का भुगतान करना पड़ा था। फ्रांसीसी मीडिया द्वारा इस खुलासे के बाद दोनों देशों में राफेल सौदे में भ्रष्टाचार को लेकर एक बार फिर बहस शुरू हो गई है।

फ्रांस के प्रकाशन 'मीडियापार्ट' ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि 2016 में, जब राफेल लड़ाकू जेट पर भारत-फ्रांस समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे, तब दासो ने यह राशि भारत के एक बिचौलिए को दी थी। वर्ष 2017 में, 508925 यूरो को डैसो ग्रुप के खाते से 'ग्राहकों को उपहार' के रूप में स्थानांतरित किया गया। इस बात का खुलासा तब हुआ जब फ्रांसीसी भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसी एएफए ने डसाऊ के खाते का ऑडिट किया। मीडियापार्ट की रिपोर्ट के अनुसार, खुलासा करने पर दसाऊ ने स्पष्ट किया था कि इन फंडों का उपयोग राफेल फाइटर जेट के 50 बड़े 'मॉडल' बनाने के लिए किया गया था, लेकिन इस तरह के कोई मॉडल नहीं बनाए गए थे।



फ्रांसीसी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ऑडिट में यह सामने आने के बाद भी एजेंसी ने कोई कार्रवाई नहीं की, जो फ्रांसीसी राजनेताओं और न्याय प्रणाली की मिलीभगत को भी दर्शाता है। दरअसल, फ्रांस में 2018 में, एक एजेंसी Parquet National Financier (PNF) ने कहा था कि इस सौदे में गड़बड़ी थी, तभी ऑडिट किया गया और इन बातों का खुलासा हुआ।