पैंगोंग सो, देपसांग में पीछे नहीं हट रहा चीन, 5वें दौर की सैन्य बातचीत टली

Sunday, 02 Aug 2020 12:54:33 PM

नई दिल्ली। चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध को कम करने की फेहरिस्त में सैन्य की स्तर की बातचीत का एक दौर रविवार को भी होना है. आज दोनों सेनाओं के बीच कोर्प कमांडर स्तर की बातचीत होनी है. यह बातचीत चीन की तरफ मोल्डो में सुबह करीब 11 बजे होने जा रही है. प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत और चीन के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच यह बैठक आज 11 बजे चीन की तरफ मोलडो में होगी. जानकारी के अनुसार इस बैठक में भारत, चीन से कहेगा कि अप्रैल 2020 की यथास्थिति से कम उसे कुछ भी मंजूर नहीं है।

चीन की हरकतों के मद्देनजर भारत ने 14 कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और चीनी मेजर जनरल लुई लिन के बीच 5वें दौर की बातचीत के लिए बिलकुल भी जोर नहीं दिया। दोनों देशों के बीच 5वें दौर की यह बातचीत 30 जुलाई के लिए प्रस्तावित थी लेकिन चीन के इरादों को भांपते हुए फिलहाल बातचीत को टाल दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, पैंगोंग सो और देपसांग में चीनी सैनिकों के पीछे न हटने की दो वजहें हो सकती हैं।


पहला, दोनों देशों के बीच 14 जुलाई को सैन्य कमांडर स्तर की चौथे दौर की बातचीत में डिसइंगेजमेंट के जिस प्रपोजल पर सहमति बनी थी, उसे लागू करना चाहिए या नहीं, इसे लेकर चीन अभी भी दुविधा की स्थिति में है। दूसरा, चीन इस विवाद को खींचकर सर्दियों तक ले जाना चाहता है। हाल ही में दोनों देशों में चल रही बातचीत की वजह से पेट्रोलिंग प्वाइंट 14, 15 और 17 से चीनी सेना ने अपने कदम पीछे खींच लिए थे। यह दोनों देशों के बीच डिसएंगेजमेंट प्रक्रिया पर सहमति के तहत हुआ था। सूत्रों ने कहा था, 'सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर भारत और चीन के बीच जारी बातचीत के परिणामस्वरूप सेनाएं पेट्रोलिंग प्वाइंट 14, 15 और 17 पर पूरी तरह पीछे हट गई हैं।'

loading...