विश्व बैंक: भारत की आर्थिक विकास दर चालू वित्त वर्ष के लिए 6 प्रतिशत से घटकर 5 प्रतिशत हो गई

Friday, 10 Jan 2020 03:52:35 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

अर्थव्यवस्था में सुस्ती को देखते हुए विश्व बैंक ने भी भारत की आर्थिक विकास दर को कम करने का फैसला किया है। नवीनतम रिपोर्ट में, विश्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए विकास दर के अनुमान को घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया है, जो कि 11 साल का कम होगा। इससे पहले, विश्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष (2019-20) के लिए छह प्रतिशत की वृद्धि दर का अनुमान लगाया था। इसके अलावा, मंगलवार को, भारत सरकार ने विकास दर के अनुमान को भी घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया।

विश्व बैंक ने रिपोर्ट में कहा, 'भारत में गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों में ऋण की स्थिति कमजोर बनी हुई है। इसलिए, 31 मार्च को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए विकास दर 5 प्रतिशत रहने की उम्मीद है। अगले वित्त वर्ष में इसमें कुछ सुधार के साथ 5.8 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है। विश्व बैंक ने कहा कि निजी स्तर पर खपत कम होने और ऋण की पर्याप्त व्यवस्था के अभाव के कारण भारत में गतिविधियां रुक गई हैं। सरकार द्वारा पूर्व में जारी एक ही रिपोर्ट में, विनिर्माण क्षेत्र में सुस्ती को विकास दर में गिरावट का एक प्रमुख कारण बताया गया था। सरकार ने कहा था कि विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर 6.9 प्रतिशत से गिरकर दो प्रतिशत रहने की उम्मीद है। निर्माण क्षेत्र के साथ भी कमोबेश यही स्थिति है।



विश्व बैंक ने वैश्विक विकास दर में मामूली सुधार की उम्मीद की है। इसके अलावा, रिपोर्ट में 2020 में 2.5 प्रतिशत की वृद्धि दर का अनुमान लगाया गया है। समान बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की विकास दर घटकर 1.4 प्रतिशत रहने की उम्मीद है और उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि दर 4.1 प्रतिशत हो जाएगी। दक्षिण एशिया में विकास दर मामूली सुधार के साथ 5.5 प्रतिशत रहने की उम्मीद है। इसके साथ ही पाकिस्तान की विकास दर 2.4 प्रतिशत बताई गई है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...