loading...

पतंजलि सबसे बड़ी FMCG कंपनी बन सकती है, 2021 में 40000 मिलियन टर्नओवर की उम्मीद है

Saturday, 25 Jan 2020 03:49:19 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

loading...

पतंजलि आयुर्वेद को अगले वित्त वर्ष में 35,000 करोड़ रुपये से 40,000 करोड़ रुपये के कारोबार तक पहुंचने की उम्मीद है। कंपनी के प्रवर्तक योग गुरु बाबा रामदेव ने शुक्रवार को यह बात कही। इसके साथ, उनका लक्ष्य पतंजलि को भारत की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी बनाना है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में पतंजलि ने कर्ज के बोझ के साथ रूचि सोया का अधिग्रहण किया है। कंपनी को चालू वित्त वर्ष में अपने टर्नओवर 25,000 करोड़ रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। जिसमें से 12,000 करोड़ रुपये का कारोबार पतंजलि समूह का हो सकता है और 13,000 करोड़ रुपये का कारोबार सोया का होगा।

पतंजलि को रूचि सोया के अधिग्रहण के बाद तीन गुना वृद्धि की उम्मीद है, क्योंकि भागीदार पतंजलि खाद्य तेल श्रेणी में प्रमुख खिलाड़ी बन गई है और साथ ही सोयाबीन तेल, सूरजमुखी तेल और ताड़ के तेल का प्रमुख घरेलू उत्पादन है। कहा, 'रूचि सोया के साथ पतंजलि का कारोबार इस वित्त वर्ष में लगभग 25,000 करोड़ रुपये का होगा और अगले वित्त वर्ष (FY21) तक यह बढ़कर लगभग 35,000 करोड़ रुपये होने की उम्मीद है। क्या व्यापार आगे बढ़ेगा, "अगले पांच वर्षों में हमें 50,000 करोड़ रुपये में से 1 लाख करोड़ रुपये और एचयूएल एफएमसीजी द्वारा प्रतिस्थापित सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी।



आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL) FMCG सेगमेंट में मार्केट लीडर है। 2018-19 में इसी कंपनी के पास 38,224 करोड़ रुपये का राजस्व था, इसके आगे जीएसके हेल्थकेयर कारोबार के साथ विलय होने की उम्मीद है। इसके अलावा, जब एचयूएल के एक प्रवक्ता से संपर्क किया गया, तो उन्होंने कहा कि कंपनी की नीति के अनुसार हम प्रतिस्पर्धा पर टिप्पणी नहीं करते हैं।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


loading...