इस योजना पर काम कर रहे निजी कर्मचारियों को मोदी सरकार का बड़ा तोहफा

Tuesday, 04 Feb 2020 02:58:07 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार नौकरीपेशा लोगों को बड़ी सौगात दे सकती है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, ईपीएफ की तरह, एक प्रारंभिक पेंशन योजना लेना भी अनिवार्य हो सकता है। यदि आप ईपीएफ जैसी आसान भाषा में समझते हैं, तो आपको जल्द ही पेंशन योजना के लिए हर महीने वेतन से पैसा काटना होगा। कर्मचारी यह तय करने में सक्षम होगा कि कितना पैसा काटा जाएगा।


अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक, इस फैसले से लाखों कर्मचारियों को फायदा होगा। जानकारी देते हुए वित्त सचिव राजीव कुमार ने कहा है कि इसके लिए जल्द ही प्रणाली तैयार की जाएगी और हर महीने कम से कम 100 रुपये कर्मचारी द्वारा काटे जा सकते हैं और कंपनी अपनी ओर से भी दे सकती है। वह कहता है कि जो आज युवा हैं उन्हें कल पुराने होने पर धन की आवश्यकता होगी। नौकरीपेशा लोग आमतौर पर अपने पीएफ खाते को लेकर चिंतित रहते हैं।


अधिकांश लोग, विशेष रूप से एक निजी कंपनी में काम करने वाले, ईपीएफ के साथ प्राप्त पेंशन के बारे में नहीं जानते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि नौकरीपेशा के वेतन से काटी गई राशि दो खातों में जाती है। पहला है प्रॉविडेंट फंड यानी ईपीएफ और दूसरा है पेंशन फंड यानी ईपीएस। कर्मचारी के वेतन से काटा गया पैसा 12 प्रतिशत कर्मचारी ईपीएफ में जमा हो जाता है। इसके अलावा कंपनी की ओर से ईपीएफ में 3.67 प्रतिशत जमा किया जाता है और शेष 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में जमा किया जाता है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures