IBBIआई पेशेवरों को काम पर रखने के लिए आईआरपी के संबंध में नए नियम लेकर आया है

Thursday, 22 Jul 2021 11:42:02 AM

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता बोर्ड (आईबीबीआई) कॉरपोरेट व्यक्तियों के लिए दिवाला समाधान प्रक्रिया के संबंध में नए नियम लेकर आया है जो दिवाला समाधान पेशेवरों (आईआरपी) को जटिल समाधान प्रक्रियाओं का संचालन करने में मदद करने के लिए पेशेवरों की सेवाएं लेने के लिए सशक्त बनाता है।

आईबीबीआई (कॉर्पोरेट व्यक्तियों के लिए दिवाला समाधान प्रक्रिया) विनियम, 2016 में संशोधन करके किए गए परिवर्तनों ने आरपी को यह पता लगाने के लिए भी जिम्मेदार बना दिया है कि क्या कॉर्पोरेट देनदार (सीडी) परिहार लेनदेन के अधीन है, अर्थात्, अधिमान्य लेनदेन, कम मूल्य वाले लेनदेन जबरन क्रेडिट लेनदेन, कपटपूर्ण व्यापार और गलत व्यापार, और उचित राहत की मांग करते हुए न्यायनिर्णायक प्राधिकरण के साथ समयबद्ध तरीके से आवेदन दायर करें।


संशोधन के लिए एक दिवाला पेशेवर (आईपी) की भी आवश्यकता होती है, जो सीडी के दिवालियेपन की शुरुआत से पहले के दो वर्षों में अपने सभी संचार और रिकॉर्ड में सभी पूर्व नामों और पंजीकृत कार्यालय के पते का खुलासा करता है। यह उन हितधारकों को अनुमति देगा, जिन्हें समाधान प्रक्रिया में भाग लेने के लिए नए नाम या पंजीकृत कार्यालय के पते से संबंधित होना मुश्किल हो सकता है।