पीएफआई के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए गृह मंत्रालय, इन 8 राज्यों की फंडिंग पर कड़ी नजर रखेगा

Thursday, 06 Feb 2020 02:56:00 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली: नागरिक मंत्रालय संशोधन अधिनियम (सीएए) से संबंधित विरोध प्रदर्शनों के लिए करोड़ों रुपये के प्रतिबंधित संगठन पोपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के खिलाफ गृह मंत्रालय बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि गृह मंत्रालय पीएफआई पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है। बताया जा रहा है कि गृह मंत्रालय पीएफआई से जुड़े मामलों की जांच के लिए एक अलग डेस्क गठित करने की तैयारी कर रहा है।

सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, PFI को लेकर गृह सचिव के नेतृत्व में गृह मंत्रालय में एक बड़ी बैठक हुई, जिसमें खुफिया विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ NIA के महानिदेशक, प्रवर्तन निदेशालय और गृह के अन्य अधिकारी शामिल थे। मंत्रालय उपस्थित थे। बताया जा रहा है कि सिविल संशोधन अधिनियम के दौरान पीएफआई की फंडिंग पर जांच का दायरा बढ़ेगा। सूत्रों ने यह भी बताया है कि पीएफआई पर, गृह मंत्रालय ने खुफिया एजेंसियों और एनआईए से बहुत सारी जानकारी ली है, जिसमें 8 राज्यों में पीएफआई का वित्तपोषण जांच एजेंसियों के रडार पर है। दिल्ली, आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, केरल, झारखंड, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में पीएफआई की भूमिका पर गृह मंत्रालय की नज़र है।



जानकारी के लिए आपको बता दें कि पीएफआई पर नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में कई राज्यों में फंडिंग का आरोप लगा है और उत्तर प्रदेश सरकार पहले ही पीएफआई पर प्रतिबंध लगाने के लिए गृह मंत्रालय को पत्र भेज चुकी है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures