महंगी हो सकती हैं चाय की चुस्कियां, जानिए कंपनियां क्यों बढ़ाना चाहती है दाम

Saturday, 23 Jan 2021 01:52:38 PM

मुंबई: आपकी आरामदायक चाय आने वाले दिनों में आपकी जेब पर भारी पड़ सकती है। एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, बढ़ती वेतन के कारण चाय कंपनियों पर कीमतों में दबाव बढ़ रहा है। आगामी वित्तीय वर्ष में चाय की कीमतें बढ़ सकती हैं। रिपोर्ट के अनुसार, चाय उद्योग को अगले वित्त वर्ष में मजदूरी वृद्धि और कीमतों पर इसके प्रभाव से उत्पन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि उत्पादन एक सामान्य स्तर तक बढ़ गया है।

रेटिंग एजेंसी ICRA ने रिपोर्ट में वर्ष 2020-21 के दौरान प्रदर्शन में काफी सुधार के बाद वर्ष 2021-22 तक चाय उद्योग के लिए चुनौतियों की भविष्यवाणी की है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि नए सत्र में उत्पादन सामान्य होने पर थोक चाय की कीमतों पर प्रभाव एक महत्वपूर्ण पहलू होगा, जो आने वाले वित्तीय वर्ष में लाभप्रदता को प्रभावित करेगा। पश्चिम बंगाल ने हाल ही में अंतरिम आधार पर मजदूरी दरों में 15% वृद्धि की घोषणा की है, जिससे थोक चाय कंपनियों के लिए उत्पादन की लागत में वृद्धि होगी।



रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष में घरेलू चाय की कीमतों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, अप्रैल-दिसंबर 2020 के दौरान उत्तर भारत की नीलामी का औसत 46% और दक्षिण भारत की चाय की नीलामी में औसत 41% अधिक है। घरेलू उत्पादन में 10% की गिरावट के कारण, चाय की कीमतों में तेजी देखी गई, जबकि खपत में तेजी रही।