काले गेहूं की खेती ने बदली किसान की किस्मत, कमा रहा है लाखों

Tuesday, 30 Jun 2020 03:29:05 PM

नई दिल्ली। वैसे तो किसान अपनी परंपरागत खेती करने में ही विश्वास करता है लेकिन मध्य प्रदेश के एक किसान ने परंपरागत खेती की बजाए उससे हटकर खेती की. और फिर इससे उस किसान की किस्मत ही बदल गई. उसे अपनी फसल की चार गुनी कीमत मिल रही है। पिछले कुछ वर्षों से सोशल मीडिया में काले गेहूं को लेकर लगातार ख़बरें शेयर हो रही हैं। जिसमें ये कहा जा रहा है भारत में पहली बार काले गेहूं की खेती हो रही है और ये सामान्य गेहूं के मुकाबले न सिर्फ कई गुना महंगा बिकता है बल्कि इसमें कैंसर और डायबिटीज समेत कई बीमारियों से लड़ने की क्षमता होती है।

बताया जाता है कि काले गेहूं में सामान्य गेहूं की तुलना में लगभग 60 प्रतिशत अधिक आयरन एकाग्रता होता है। हालांकि प्रोटीन, पोषक तत्व और स्टार्च की मात्रा समान रहती है। भारत में आम तौर पर काले गेहूं की खेती नहीं होती, मगर मध्य प्रदेश में धार जिले के एक किसान ने काले गेहूं की फसल उगाई है।


मध्य प्रदेश में धार जिले के विनोद चौहान नामक किसान ने रबी सीजन में काले गेहूं की फसल की। खास बात ये है कि उनके इस विशेष गेहूं की मांग 12 राज्य कर रहे हैं, जिससे ये गेहूं उनके लिए सोना साबित हो रहा है। विनोद ने परंपरागत खेती के बजाय नए तरीके से खेती करके स्पेशल फसल तैयार की है। काला गेहूं एक दुर्लभ फसल है। मगर विनोद ने इस फसल की खेती पूरे 20 बीघा जमीन पर की है। दुर्लभ फसल और 12 राज्यों से मांग आना उनके लिए किस्मत चमकने जैसा है।


विनोद के मुताबिक उन्होंने 500 किलो काले गेहूं की बुवाई की थी, जिससे 200 क्विंटल (1 क्विंटल = 100 किलो) फसल की पैदावार हुई है। यानी उनके पास 200 क्विंटल दुर्लभ काला गेहूं है। जहां तक कीमत का सवाल है तो विनोद को इसकी सामान्य गेहूं के मुकाबले दोगुनी कीमत मिलेगी। जैसा कि बताया गया कि स्वास्थ्य के लिए अधिक बेहतर है इसी कारण इसके लिए दाम भी अधिक मिलेगा।

loading...