ट्रंप परिवार के स्वागत के लिए 200 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे

Monday, 24 Feb 2020 03:33:48 PM

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की 36 घंटे की भारत यात्रा अमेरिका और उनकी रिपब्लिकन पार्टी के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। अमेरिकी रक्षा कंपनियों की नजर बड़े सौदों पर टिकी है। यह खबर सरकारी सूत्रों के सामने आई है। ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान, भारत और अमेरिका के बीच 21 हजार करोड़ रुपये के रक्षा सौदे को लागू करने की संभावना है। 18,626 करोड़ का सी-हॉक हेलिकॉप्टर सौदा भी प्रमुखता से शामिल है। नौसेना को 24 सी-हॉक हेलीकॉप्टरों की आवश्यकता है। अमेरिका भारत को एक मिसाइल रक्षा कवच बेचने की भी कोशिश कर रहा है ताकि वह रूस के एस -400 मिसाइल रक्षा प्रणाली को भारत में प्रवेश करने से रोक सके। रक्षा सूत्रों ने कहा है कि इस पर कोई समझौता नहीं होगा। भारत रूसी समझौते को कायम रखता दिख रहा है।

Image result for 200 crore will be spent to welcome the Trump family

दूसरी ओर, ट्रम्प परिवार के स्वागत और सुरक्षा पर भारत 200 करोड़ रुपये खर्च करेगा। जिसमें 'नमस्ते ट्रम्प' के आयोजन पर 100 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं और यात्रा के शेष दो चरणों के दौरान सुरक्षा पर 100 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। अमेरिका में इस साल राष्ट्रपति चुनाव होगा। ट्रंप मोटेरा में लगभग 1.10 लाख लोगों को संबोधित करेंगे। माना जाता है कि उनकी नजर 25 लाख भारतीय मूल के मतदाताओं को लुभाने के लिए है।

Image result for 200 crore will be spent to welcome the Trump family
दोनों देशों में व्यापार समझौते की संभावना कम ही देखी जाती है। अमेरिका ने भारत को GSP सूची से हटा दिया था। भारत जीएसपी के तहत अमेरिका को 3,000 उत्पाद शुल्क मुक्त निर्यात कर रहा था। इसमें मुख्य रूप से आभूषण और चावल होते हैं। भारत चाहता है कि अमेरिका इसे वापस ले। स्टील पर 25% शुल्क वृद्धि है। भारत इसके लिए 5,391 करोड़ रुपये का स्टील निर्यात करता था। फीस में बढ़ोतरी के कारण यह आधा हो गया है। अमेरिका भी भारत में डेयरी उत्पाद बेचना चाहता है, लेकिन अमेरिका में गायों को मांसाहारी भोजन खिलाया जाता है, यही वजह है कि भारत ने इस पर आपत्ति जताई है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures