बच्चों को लेकर वैक्सीन कंपनी ने दी यह चेतावनी, तीसरी डोज के लिए बुक नहीं करना पड़ेगा स्लॉट, यूं पा सकेंगे खुराक

 
Corona
नई दिल्ली. यह जानकारी शुक्रवार (सात जनवरी, 2022) को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सूत्रों ने दी। कि कोरोना वायरस की तीसरी डोज के लिए लाभार्थियों को स्लॉट बुक करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वे 10 जनवरी, 2022 से वॉक-इन के जरिए वैक्सीन लगवा सकेंगे। जिन लोगों ने कोविड-19 के टीके की दो खुराक ले ली हैं, वे सीधे अप्वॉइंटमेंट ले सकते हैं या किसी भी टीकाकरण केंद्र में जा सकते हैं। मंत्रालय के सूत्र ने बताया, “कोविन ऐप (CoWIN App) पर नए रजिस्ट्रेशन की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने आगे कहा- ऑनलाइन अप्वॉइंटमेंट सुविधा शनिवार यानी आठ जनवरी, 2022 की शाम से शुरू होगी। साइट पर अप्वॉइंटमेंट के साथ टीकाकरण 10 जनवरी से शुरू होगा। 
Corona
इस हफ्ते की शुरुआत में केंद्र ने कहा था कि “एहतियाती” खुराक पहली दो खुराक के समान होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि टीकाकरण के लिए को-मॉर्बिडिटी साबित करने के लिए 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को डॉक्टर के पर्चे या चिकित्सा प्रमाण पत्र प्रदान करने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। तीसरी यानी कि “एहतियाती खुराक” तीन प्राथमिकता वाले समूह को फिलहाल दी जानी है। इसमें स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर्स और को-मॉर्बिडिटी (गंभीर बीमारियों से ग्रसित) वाली 60 से अधिक आबादी शामिल है। यह दूसरा टीका लेने के 39 सप्ताह बाद अपनी तीसरी “एहतियाती खुराक” के लिए पात्र हैं। ये ऑनलाइन अप्वॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं या फिर किसी भी टीकाकरण केंद्र में जाकर तीसरी खुराक पा सकते हैं। 
Corona
वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने बुधवार को कहा था कि कोवैक्सिन का टीका लगने के बाद किसी भी पैरासिटामॉल या पेनकिलर की सिफारिश नहीं की जाती है। भारत बायोटेक ने ट्वीट कर कहा, “हमें प्रतिक्रिया मिली है कि कुछ टीकाकरण केंद्र बच्चों के लिए कोवैक्सिन के साथ तीन पैरासिटामॉल 500 मिलीग्राम टैबलेट लेने की सिफारिश कर रहे हैं। कोवैक्सीन का टीका लगने के बाद किसी भी पैरासिटामॉल या दर्द निवारक की सिफारिश नहीं की जाती है। कोरोना के सबसे ताजा स्वरूप ओमिक्रॉन का चार घंटे से कम समय में पता लगाने वाली भारत की पहली घरेलू परीक्षण किट ओमिश्योर को हाल ही में भारत के औषधि महानियंत्रक से मंजूरी मिली है। यह किट चार घंटे से कम समय में डेल्टा, अल्फा और अन्य वेरिएंट से नोवेल कोरोनावायरस के ओमाइक्रोन स्ट्रेन को अलग कर सकती है