यूपी के चुनावी मैदान में शिवसेना! किसानों का ‘आशीर्वाद’ लेने राकेश टिकैत के घर पहुंचे संजय राउत

 
Rakesh
नई दिल्ली. यूपी के चुनाव की बिसात बिछ चुकी है और सभी दल मैदान में कूदने के लिए तैयार हैं। शिवसेना के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय राउत ने कहा है कि उनका दल भी यूपी के चुनावी मैदान में कूदने जा रहा है। कहा कि राज्य में परिवर्तन बहुत जरूरी है। नेताओं ने रणनीति भी बना ली है। तीन कृषि कानूनों के वापस लेने के लिए सरकार को मजबूर करने के चलते बीकेयू नेता राकेश टिकैत इन दिनों सभी दलों के लिए अहम सियासी कैरेक्टर बने हुए हैं।  
Rakesh
 संजय राउत ने कहा मैं पश्चिम UP जा रहा हूं, वहां किसान नेता राकेश टिकैत से मिलूंगा और जानकारी लूंगा कि वो क्या चाहते हैं, अगर हमें UP में लड़ना हैं तो हमें किसानों का आशीर्वाद चाहिए।” इसी के तहत बृहस्पतिवार को संजय राउत राकेश टिकैत से मिलने मुजफ्फरनगर स्थित उनके घर पहुंचे। इस दौरान दोनों नेताओं ने गर्मजोशी से मुलाकात की। संजय राउत ने मिडिया से बात करते हुए कहा हम किसी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे लेकिन हम चाहते हैं कि UP में परिवर्तन हो और परिवर्तन हो रहा है। 
राउत ने कहा, ‘‘यह सिर्फ शुरुआत है और उत्तर प्रदेश में राजनीति बदलने वाली है।’’ उन्होंने एक दिन पहले कहा था कि शिवसेना उत्तर प्रदेश में 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जहां 403 सदस्यीय विधानसभा के लिए अगले दो महीने में सात चरण में चुनाव होने वाले हैं। शिवसेना सांसद संजय राउत ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में राजनीतिक बदलाव होने वाला है और राज्य के एक मंत्री तथा कुछ अन्य भाजपा विधायकों के हाल में पार्टी छोड़ने से इसकी शुरुआत हो गई है। उत्तर प्रदेश में भाजपा को झटका देते हुए ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को राज्य कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया और तीन अन्य विधायकों ने भी पार्टी छोड़ने की घोषणा की।
दूसरी तरफ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार ने यूपी में मौर्या के जाने पर कहा कि, ‘‘मतदान होने तक हर दिन कुछ नए चेहरे पलायन करेंगे।’’ उन्होंने इसके साथ ही घोषणा की कि वह सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा बुलाई गई बैठक में शामिल होंगे। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के भविष्य के बारे में पवार ने कहा, ‘‘जनता बदलाव चाहती है। गोवा में चुनावी परिदृश्य का जिक्र करते हुए शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारी लड़ाई भाजपा के नोट (धन बल) से है। उन्होंने कहा, ‘‘शिवसेना आम जनता की पार्टी है। हम लोगों से कहना चाहते हैं कि धन के लालच में नहीं पड़ें।