मुकेश वर्मा ने बीजेपी छोड़कर कहा- बीजेपी के 100 विधायक हमारे संपर्क में हैं.

 
national

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में भगदड़ मच गई है. कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह के बाद गुरुवार को दो विधायक मुकेश वर्मा और विनय शाक्य ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. वहीं, आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी ने भी योगी सरकार में इस्तीफा दे दिया है। वहीं मुकेश वर्मा ने पार्टी छोड़ने के बाद दावा किया है कि करीब 100 विधायक ऐसे हैं जो पार्टी छोड़ सकते हैं.

वहीं स्वामी प्रसाद मौर्य का कहना है कि, 'बीजेपी ने गैर जमानती वारंट निकाला था और सोचा था कि स्वामी प्रसाद मौर्य को डरा देंगे. एक भी गैर जमानती वारंट एक दर्जन नहीं आना चाहिए, स्वामी प्रसाद मौर्य भी उतनी ही ताकत से जवाबी कार्रवाई करेंगे, जितने गैर जमानती वारंटों की संख्या है. मेरे इस्तीफे के ठीक 1 दिन बाद गैर जमानती वारंट आया, एक निःसंतान बच्चा भी जान सकता है कि इसके लिए चाबी कहां से भरी गई है। मेरा घर अब विद्रोहियों का मुख्यालय बन गया है।


 
वहीं शिकोहाबाद विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक मुकेश वर्मा ने पार्टी से इस्तीफा देने के बाद दावा किया है कि 'भाजपा के संपर्क में 100 हैं और बीजेपी को हर दिन इस्तीफे का इंजेक्शन मिलेगा.' उन्होंने कहा कि भाजपा अग्रदूतों की पार्टी है और वहीं। दलितों और पिछड़ों के लिए कोई सम्मान नहीं है। उन्होंने दावा किया कि भाजपा सरकार ने पिछड़ों को निशाना बनाकर रोजगार पैदा नहीं होने दिया। वर्मा ने कहा कि भाजपा दलित विरोधी, अल्पसंख्यक और पिछड़ी विरोधी है।