गुलाम नबी आजाद की घटाई गई सिक्योरिटी, जम्मू-कश्मीर के इन पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगी SSG सुरक्षा

 
Gulab nabi
नई दिल्ली. जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब विशेष सुरक्षा समूह सुरक्षा नहीं मिलेगी। इस संबंध में जम्मू-कश्मीर के गृह विभाग ने एक आदेश जारी किया है। हालांकि फारूक अब्दुल्ला और गुलाम नबी आजाद को राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड की सुरक्षा मिलती रहेगी। वहीं उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को जेड-प्लस सुरक्षा मिलती रहेगी। बता दें कि इस कदम से फारूक अब्दुल्ला, गुलाम नबी आजाद, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को एसएसजी सुरक्षा हट जाएगी। जिसके बाद अब ये सभी अन्य राजनीतिक सुरक्षा प्राप्त लोगों के बराबर ही रहेंगे।
Gulab navi
उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को जेड-प्लस सुरक्षा मिलती रहेगी। फिलहाल सुरक्षा समीक्षा और समन्वय समिति इन मुख्यमंत्रियों के लिए खतरे की धारणा पर विश्लेषण करेगी। बता दें कि इस बदलाव के बाद अब उनकी सुरक्षा में एसएसजी की जगह पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के सुरक्षाकर्मी होंगे। फारूक अब्दुल्ला और आज़ाद को ब्लैक कैट कमांडो(NSG) सुरक्षा कवच मिलता रहेगा। यह घेरा उन लोगों को मिलता है जिन्हें जेड-प्लस सुरक्षा प्राप्त होती है।
* पीएम को एसपीजी सुरक्षा
जहां मुख्यमंत्रियों को एसएसजी सुरक्षा मिलती है तो वहीं देश के प्रधानमंत्री को एसपीजी की सुरक्षा दी जाती है। यह सुरक्षा दो साल पहले तक पूर्व प्रधानमंत्रियों और उनके निकटतम करीबियों को भी दी जाती थी। लेकिन एसपीजी एक्ट में संशोधन के बाद इसे प्रधानमंत्री तक सीमित कर दिया गया।
SSG को बंद करने का फैसला 
 जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को खत्म करने के बाद एसएसजी अधिनियम में बदलाव किया गया था। अधिकारियों का कहना है कि एसएसजी को अब सेवारत मुख्यमंत्रियों और उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। दरअसल केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन ने 2000 में स्थापित SSG को बंद करने का फैसला किया है।
अधिकारियों ने जानकारी दी कि एसएसजी के कुछ जवानों को जम्मू-कश्मीर पुलिस की सुरक्षा शाखा में ”घृणित सुरक्षा दल” के लिए तैनात किया जाएगा। वहीं शेष एसएसजी कर्मियों को दूसरे विंगों में तैनात किए जाने की संभावना है। इससे पुलिस बल को प्रशिक्षण और ज्ञान का सर्वोत्तम लाभ मिल सकेगा। बता दें कि जम्मू-कश्मीर पुलिस के सुरक्षा विंग को वाहन और अन्य गैजेट्स ट्रांसफर किए जाएंगे।