उन्नाव रेप पीड़िता की मां आशा सिंह को कांग्रेस ने बनाया प्रत्याशी, मामले में BJP MLA को हुई थी सजा

 
Ghandi
नई दिल्ली. पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस के 125 प्रत्याशियों की लिस्ट जारी करते हुए 19 वर्षीय पीड़िता की मां के नाम का ऐलान किया। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए 2017 उन्नाव रेप केस की पीड़िता की मां आशा सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। प्रियंका गांधी ने कहा कि चालीस प्रतिशत टिकट महिलाओं को दिया गया है। पूर्व बीजेपी नेता कुलदीप सिंह सेंगर को लड़की के बलात्कार के लिए दोषी ठहराया गया था और आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। 
Ghandi
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने फैसले का स्वागत करते हुए कहा, "उन्नाव में जिनकी बेटी के साथ बीजेपी ने अन्याय किया, अब वे न्याय का चेहरा बनेंगी- लड़ेंगी, जीतेंगी। उन्नाव रेप पीड़िता की मां को टिकट मिलने की घोषणा करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, "हमारी उन्नाव की प्रत्याशी गैंगरेप पीड़िता की माता आशा सिंह जी हैं. वे चुनाव लड़ना चाहती हैं. हमने उन्हें मौका दिया है, जिस सत्ता के जरिये उनके पति की हत्या हुई, बेटी का बलात्कार हुआ, एक्सीडेंट कराया, वही सत्ता अपने हाथों में लें। 
उन्नाव रेप कांड उस वक्त सुर्खियों में आया जब पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर खुदकुशी की कोशिश की. पीड़िता ने सेंगर के भाई द्वारा अपने 55 वर्षीय पिता की कथित पिटाई के चलते ख़ुदकुशी की कोशिश की थी. पीड़िता के पिता की अगले दिन पिटाई से लगी चोटों के चलते मृत्यु हो गई थी. इसके बाद देशभर में न्याय की मांग उठी थी। दिसंबर 2019 में सेंगर को 2017 में उन्नाव में महिला से बलात्कार के एक अलग मामले में दोषी ठहराया गया था और उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। कांग्रेस अब उत्तर प्रदेश की राजनीति में सर्फ एक छोटे खिलाड़ी के तौर पर सिमटकर रह गई है. पार्टी अब राज्य में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों को देखते हुए लैंगिक समानता पर ध्यान केंद्रित कर रही है. इसके चलते प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने हाथरस में एक दलित महिला के साथ सामूहिक बलात्कार के मामले में और उन्नाव रेप केस में सरकार पर दबाव बनाने का काम किया था।