उदयपुर रेलवे ट्रैक ब्लास्ट मामला : राजस्थान आतंकवाद विरोधी दल ने एक नाबालिग सहित तीन को किया गिरफ्तार, मिली बड़ी कामयाबी…!!!

 
a

राजस्थान : हाल ही में राजस्थान के उदयपुर में उदयपुर से अहमदाबाद मार्ग में केवड़ा की नाल स्थित ओढ़ा रेलवे पुल पर ब्लास्ट का मामला सामने आया था। इस मामले में राजस्थान की आतंक विरोधी टीम ने कुछ अपराधियों को अपने शिकंजे में कैसा है जिसमें एक नाबालिग भी शामिल है। यह तीनों अपराधी एकलिंगपुरा थाने के जावर माइन्स के रहने वाले है। अब यह तीनों अपराधी उदयपुर में है और इनसे पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है।

आतंकवादी विरोधी दल के अधिकारी अशोक राठौड़ ने बताया कि यह तीनों ही अपराधी एकलिंगपुरा के ही रहने वाले हैं जिनमें से एक नाबालिग भी है बाकी दो के नाम धूलचंद मीणा (32) और प्रकाश मीणा (18) है। हालांकि यह अपराधी किसी भी आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए नहीं हैं बल्कि इनमें से किसी एक की भूमि को रेलवे और हिंदुस्तान जिंक द्वारा ले लिया गया था और उसका मुआवजा इन्हे अभी तक नही मिला था। इस बात से दुखी होकर इन्होंने यह बड़ा कदम उठाया।

नही हुआ किसी को नुकसान

हालांकि इन लोगों का इरादा किसी को नुकसान पहुंचाने का नहीं था इससे ट्रैक से ट्रेन के गुजर जाने के बाद में उन्होंने एक विस्फोटक के से भरा हुआ बंडल ट्रैक पर रखा और उसमें आग लगाकर ट्रैक को उखाड़ दिया। इससे ट्रैक काफी छतिग्रस्त हो गया और उसकी पटिया था नट बोल्ट भी टूट गए। रेलवे और हिंदुस्तान जिंक के द्वारा जमीन लेने के बावजूद उनको मुआवजा या फिर कोई नौकरी नहीं दी थी जिसके लिए धूल चंद मीणा काफी सालों से कोशिश कर रहा था।

a

अशोक राठौड़ के अनुसार यह तीनों ही अपराधी बाइक पर सवार होकर आए थे और इस घटना को अंजाम दिया। काफी पूछताछ करने पर पता चला कि इन्होंने यह विस्फोटक पदार्थ अंकुश सुवालका से खरीदे थे जिसके बाद में अंकुश सुवालका को भी गिरफ्तार कर लिया गया है और पूछताछ की जाएगी।

एडीजी अशोक राठौड़ का कहना है कि यह कोई भी आतंकवादी संगठन से जुड़े हुए नहीं है बस रेलवे और हिंदुस्तान जिंक पर गाय गुस्से की वजह से ही इन्होंने यह बड़ा कदम उठाया है। यह काफी संवेदनशील मुद्दा है हम इसके आगे और जांच करेंगे।