सीएम नीतीश कुमार के काफिले के लिए रोकी गईं दो ट्रेनें, भड़के केंद्रीय मंत्री

 
aa

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार (18 जनवरी) को समाधान यात्रा के तहत बक्सर पहुंचे. लेकिन, नीतीश कुमार का बक्सर दौरा विवादों में घिर गया है. दरअसल यहां सीएम नीतीश के काफिले के लिए पैसेंजर ट्रेन को रोका गया था, जिससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. सीएम नीतीश का काफिला पुलिस लाइन से जिला गेस्ट हाउस की ओर जा रहा था. इसी दौरान बक्सर में इटाढ़ी रेलवे क्रासिंग पार करने के लिए ट्रेन को रोक दिया गया. दो ट्रेनें, पटना-बक्सर पैसेंजर ट्रेन और कामाख्या एक्सप्रेस आउटर पर खड़ी थीं।

इससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ट्रेन रुकने के बाद यात्री पैदल ही बक्सर स्टेशन की ओर जाते दिखे। इस मामले में गुमटी गेटमैन संतोष कुमार ने जानकारी दी है कि सीएम नीतीश का काफिला गुजरने वाला है, इसलिए ट्रेन को रोक दिया गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले के लिए एक ट्रेन को रोके जाने से आम जनता को हो रही परेशानी के बाद बीजेपी बौखला गई है. ट्रेन रुकने के बाद बिहार के बक्सर से लोकसभा सांसद और केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने पूछा कि ट्रेन किसके आदेश पर रोकी गई. साथ ही उन्होंने घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

वहीं, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने थाली बजाकर सीएम नीतीश कुमार के बक्सर दौरे का विरोध जताया. उन्होंने सांकेतिक रूप से बिहार सरकार की नाकामियों को उजागर किया। केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि नीतीश कुमार बक्सर में लोगों को परेशान करके चले गए. यहां उन्होंने ट्रेन रोक दी, जबकि लोग घंटों जाम में फंसे रहे। संकल्प के नाम पर वे यहां से व्यवधान पैदा कर चले गए। उन्होंने कहा, ये नीतीश कुमार नहीं हैं, ये 'समस्या कुमार' हैं.