'बेशर्म हैं भगत सिंह के नाम पर राजनीति करने वाले...', गौतम गंभीर ने केजरीवाल पर साधा निशाना

 
vv

नई दिल्ली: दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार राजधानी में नई आबकारी नीति को लेकर विवादों में घिर गई है. दिल्ली के उपराज्यपाल (एलजी) विनय कुमार सक्सेना ने नई नीति की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। इसके बाद दिल्ली का सियासी पारा चढ़ गया है. पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने मामले में एंट्री की है. उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला है. गंभीर ने कहा कि जो लोग भगत सिंह के साथ बदतमीजी करते रहे हैं वे बेहद बेशर्म हैं. गंभीर ने कहा कि यह आम आदमी की नहीं, 'ठेकेदारों' की सरकार है.

उन्होंने आगे कहा कि एक मंत्री जेल में है, दूसरा जेल जाने की तैयारी कर रहा है और तीसरा सिंगरपुर जाकर खालिस्तानी लोगों की एंट्री कराना चाहता है. बयान में गंभीर के निशाने पर थे सत्येंद्र जैन, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और सीएम केजरीवाल। गौतम गंभीर ने कहा कि कोरोना महामारी में भी पैसा कमाने के पीछे केजरीवाल सरकार का हाथ है. जब देश को मानवता की जरूरत थी, उस समय आम आदमी पार्टी पैसा कमा रही थी। गंभीर ने कहा कि कोरोना काल में ठेकों के बाहर लंबी-लंबी कतारें लगी थीं, इस सरकार का फायदा शराब माफियाओं को हुआ है.


बीजेपी सांसद ने कहा कि केजरीवाल खालिस्तानियों की एंट्री करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि उनके दिल्ली मॉडल पर हमेशा सवाल उठाए जाएंगे। इस सरकार ने कोई नया भवन नहीं बनाया, कोई नया फ्लाईओवर नहीं बनाया, कोई नया स्कूल और नए कॉलेज नहीं बने, और कोई नई सार्वजनिक रसोई नहीं बनाई गई।