पीएम मोदी 13 जनवरी को गंगा विलास क्रूज को हरी झंडी दिखाएंगे ​​​​​​​

 
7

नई दिल्ली: भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 13 जनवरी को दुनिया की सबसे लंबी लक्जरी नदी क्रूज "गंगा विलास" को हरी झंडी दिखाएंगे।

क्रूसी 50 दिनों में 3,200 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए यूपी के वाराणसी से असम के डिब्रूगढ़ तक रवाना होगी। क्रूज भारत और बांग्लादेश में 27 नदी प्रणालियों से होकर गुजरेगा और पर्यटकों को विश्व विरासत स्थलों सहित 50 से अधिक पर्यटक स्थलों पर ले जाया जाएगा।


भले ही जिला प्रशासन को अभी तक प्रधानमंत्री कार्यालय से औपचारिक कार्यक्रम नहीं मिला है, लेकिन अभी से तैयारियां शुरू हो गई हैं। संस्कृति विभाग, पर्यटन विभाग और अंतर्देशीय जलमार्ग परिवहन के अधिकारियों को इस संबंध में वाराणसी मंडल आयुक्त कौशल राज शर्मा और जिलाधिकारी एस राजलिंगम से अपेक्षित आदेश प्राप्त हो चुके हैं।

शर्मा ने गुरुवार को कहा कि वाराणसी से डिब्रूगढ़ तक दुनिया का सबसे लंबा क्रूज 13 जनवरी को रवाना होगा। क्रूज को रविदास घाट के सामने जेट्टी बोर्डिंग प्वाइंट से हरी झंडी दिखाई जाएगी।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, गंगा विलास क्रूज कुल मिलाकर 3,200 किलोमीटर तक जाएगा। यह अब तक का सबसे लंबा क्रूज यात्रा कार्यक्रम होगा। पूरी यात्रा 50 दिनों की होगी। यह यात्रा विश्व धरोहर स्थलों सहित रास्ते में 50 से अधिक ठहराव करेगी।

उन्होंने बताया कि यह जहाज राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभ्यारण्यों से होकर भी गुजरेगा। इनमें काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और सुंदरबन डेल्टा शामिल हैं।