अमित शाह के बयान पर सीएम नीतीश का पलटवार, कहा- 'इतिहास कैसे बदलेंगे?'

 
cc

पटना : इतिहास पर गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर अब भाजपा के सहयोगी दलों के विरोध की आवाजें उठने लगी हैं. नीतीश कुमार ने अमित शाह के बयान पर निशाना साधा है. नीतीश कुमार ने कहा कि देश का इतिहास कोई कैसे बदल सकता है? इतिहास इतिहास है। इसे बदला नहीं जा सकता।

नीतीश कुमार ने कहा कि इतिहास कैसे बदला जा सकता है? यह मेरी समझ से परे है। ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दरबार के बाद कही। दरअसल, जनता दरबार के बाद मीडिया ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से सवाल किया था. केंद्र सरकार में गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर एक सवाल पर नीतीश कुमार ने यह बात कही। गृह मंत्री अमित शाह ने देश के इतिहास को सही तरीके से फिर से लिखने की वकालत की थी। दरअसल, एक समारोह को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा था कि देश में इतिहासकारों ने मुगलों के इतिहास को ज्यादा अहमियत दी है. देश के राजवंशों, राजाओं और महाराजाओं को इतिहासकारों ने उतनी वरीयता नहीं दी, जितनी उन्हें देनी चाहिए थी।
 
उसी इतिहास पर अमित शाह के इस बयान पर सीएम नीतीश कुमार ने इशारों-इशारों में अमित शाह की बातों को खारिज कर दिया. नीतीश कुमार ने अमित शाह की तरफ से अलग लाइन अपनाते हुए एक तरह से बीजेपी और उनके आलोचकों को यह संदेश भी दिया कि वह अपने सहयोगी की हर बात के लिए हां नहीं कहने वाले हैं. बता दें कि इससे पहले भी कई मौकों पर सीएम नीतीश कुमार बीजेपी से अलग लाइन अपना चुके हैं.