अंकिता हत्याकांड में धामी सरकार की बड़ी कार्रवाई, ध्वस्त किया पुलकित आर्य का रिजॉर्ट

 
jj

उत्तराखंड में रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की कथित हत्या के मामले में सीएम पुष्कर सिंह धामी के आदेश के बाद आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है. दरअसल, सीएम के आदेश के बाद प्रशासन ने अंकिता हत्याकांड के आरोपी पुलकित आर्य के रिसॉर्ट में बुलडोजर चला दिया. एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम के विशेष प्रधान सचिव अभिनव कुमार ने कहा, 'सीएम के आदेश पर ऋषिकेश में पुलकित आर्य के वंतारा रिसॉर्ट पर बुलडोजर चलाया गया है.'

दरअसल उत्तराखंड पुलिस ने फेसबुक पर जानकारी दी है कि अंकिता भंडारी मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. उधर, सीएम के आदेश से आरोपी की संपत्ति पर भी कार्रवाई की जा रही है. इतना ही नहीं इसके अलावा लोगों ने पुलिस का सहयोग करने की भी अपील की है ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके. इस मामले में पुलिस ने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालकर कानून-व्यवस्था बिगाड़ने में लगे हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं पुलिस ने फेसबुक पर एक और पोस्ट कर जानकारी दी कि प्रशासन की मदद से आज सुबह पशुलोक बैराज से पानी बंद होने की उम्मीद है.

जिससे अंकिता की बॉडी ढूढ़ने में मदद मिलेगी। आपको बता दें कि अंकिता हत्याकांड के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिलाधिकारी को उत्तराखंड के सभी रिसॉर्ट्स की जांच के आदेश दिए थे. हां और मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जो रिसॉर्ट अवैध हो गए हैं या अवैध रूप से संचालित हो रहे हैं, उनके खिलाफ तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाए. इतना ही नहीं, इसके अलावा सीएम ने राज्य भर के होटल, रिसॉर्ट और गेस्ट हाउस के कर्मचारियों को उनकी स्थिति के बारे में सूचित करने के लिए कहा है और उनसे संबंधित शिकायतों को गंभीरता से लेने का आदेश दिया है. पुलिस ने अंकिता की हत्या के मामले में रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित उर्फ ​​पुलकित गुप्ता को गिरफ्तार किया है।

इन सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201 और 120-बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। हत्याकांड का मुख्य आरोपी पुलकित आर्य राज्य के पूर्व मंत्री विनोद आर्य का बेटा है। इस मामले में पुलिस ने बताया कि 18 सितंबर की शाम पुलकित और अंकिता के बीच रिसॉर्ट में झगड़ा हो गया था. इस दौरान पुलकित ने कहा कि अंकिता नाराज हैं, चलो उनके साथ ऋषिकेश चलते हैं। वहीं, एक आरोपी सौरभ भास्कर ने बताया कि सभी लोग बैराज के रास्ते एम्स के पास पहुंचे. लौटते समय अंकिता और पुलकित स्कूटी पर थे। जब हम बैराज चौकी से करीब डेढ़ किमी दूर पहुंचे तो पुलकित अंधेरे में रुक चुके थे। हम भी रुके। हम वहीं रुक गए और शराब पीने लगे।


इस दौरान अंकिता और पुलकित के बीच फिर विवाद हो गया। अंकिता हमें अपने दोस्तों के बीच बदनाम करती थी। वह अपने दोस्तों से कहती थी कि हम उसे ग्राहक के साथ संबंध बनाने के लिए कहते हैं। अंकिता कहने लगी कि वह रिजॉर्ट की असलियत सबको बताएगी और उसने पुलकित का मोबाइल नहर में फेंक दिया। अंकिता ने हमें पीटना शुरू कर दिया जब हमने गुस्से में उसे धक्का दिया और वह नहर में गिर गई।