Lifestyle News- मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग बिना पहचान पत्र के कर सकते हैं, जानिए कैसे

 
Hs

भारत एक लोकतंत्र वाला देश हैं, जहां हर महीने और साल में किसी ना किसी पद के लिए इलेक्शन होते है, जैसे की कुछ दिनों के बाद उत्तर प्रदेश में इलेक्शन हैं और वहां के मतदाता आपना वोटर आई.डी, आधार कार्ड संभालने लग गे हैं, क्योंकि इनके बिना कोई भी मतदाता वोट नहीं दे पाता हैँ, लेकिन दोस्तो कई बार हमने देखा है कि इनके खो जाने के कारण लोग वोट नहीं दे पाते हैं, लेकिन क्या आपको पता हैं कि आप इनके बिना भी वोट दे सकते हैँ।

HS

जी हॉ दोस्तो अगर आपका वोटर कार्ड खो भी जाता है तो भी आपको वोट देने से नहीं रोका जा सकता है। वोटर कार्ड गुम होने पर भी इसके बिना वोटिंग की जा सकती है,  लेकिन इसके लिए दो नियम हैं।

पहला नियम है कि आपका नाम वोटर लिस्ट में होना चाहिए। अगर आपका नाम वोटर लिस्ट में है और आपके पास वोटर कार्ड नहीं है तो दूसरा नियम तुरंत लागू हो जाता है। केंद्रीय चुनाव आयोग ने 11 अन्य प्रकार के दस्तावेजों को पहचान पत्र के रूप में मंजूरी दी है, जिन्हें आप दिखा सकते हैं और वोट कर सकते हैं।

यदि आपका नाम मतदाता सूची में है तो आप उस क्षेत्र के मतदान केंद्र में जा सकते हैं जहां आपका नाम मतदाता सूची में है। यदि आपका वोटर कार्ड खो गया है, तो आप निम्नलिखित 11 दस्तावेजों में से किसी एक का प्रमाण प्रस्तुत करके मतदान कर सकते हैं।

Hs

जिनकी सूची इस प्रकार हैं-

पासपोर्ट

ड्राइविंग लाइसेंस

अगर आप केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी हैं या पीएसयू और पब्लिक लिमिटेड कंपनी में कार्यरत हैं तो कंपनी के फोटो आईडी के आधार पर भी वोटिंग की जा सकती है.

पैन कार्ड

आधार कार्ड

डाकघर और बैंक पासबुक

मनरेगा जॉब कार्ड

श्रम स्वास्थ्य बीमा कार्ड मंत्रालय

पेंशन कार्ड जिस पर आपकी फोटो हो और यह कार्ड प्रमाणित हो

राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) स्मार्ट कार्ड

सांसद या विधायक से प्राप्त आधिकारिक पहचान पत्र