Health Tips: अगर आप भी मछली खाते हैं तो आज ही छोड़ दें वरना...

 
lifestyle

मछली का सेवन आज के समय में सभी करते हैं। दरअसल, यह सबसे फायदेमंद भोजन माना जाता है, क्योंकि यह ओमेगा-3 फैटी एसिड के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है। जी दरअसल ऐसा माना जाता है कि मछली का सेवन करने से दिमाग भी काफी तेज होता है और इसे स्वस्थ रखने में कारगर माना जाता है. कई स्वास्थ्य विशेषज्ञ भी इसका सेवन करने की सलाह देते हैं। लेकिन आज हम आपको मछली खाने के नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल मछली खाने से कई तरह के नुकसान होते हैं जो चौकाने वाले होते हैं। आज हम आपको उसी के बारे में बताने जा रहे हैं।

* आप सभी को बता दें कि पानी में मौजूद पारा और पीसीबी जैसे केमिकल भी मछली के पेट में चले जाते हैं. मरकरी और पीसीबी हमारी सेहत को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। हां और अगर आप सीधे तौर पर ज्यादा मछली खाते हैं तो इससे शरीर में पारा और पीसीबी की मात्रा बढ़ सकती है।

dd
 
* दूसरी ओर, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि बहुत अधिक मछली खाने से मस्तिष्क या तंत्रिका तंत्र पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है यदि इससे शरीर में पारा या पीसीबी की मात्रा बढ़ जाती है। हां, और यह भी माना जाता है कि इससे भूलने की बीमारी होने का खतरा होता है, इसलिए सीमित मात्रा में मछली का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

* फिश तासीर गर्म होता है और जो महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें भी सीमित मात्रा में मछली खाने की सलाह दी जाती है। दरअसल, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि अगर गर्भवती महिला ज्यादा मछली का सेवन करती है तो इससे गर्भपात का डर पैदा हो जाता है। जहां यह मां और बच्चे के लिए फायदेमंद है, वहीं इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह लेना जरूरी है।

dd

* ऐसा कहा जाता है कि जिन लोगों के शरीर में पीसीबी की मात्रा अधिक होती है, उन्हें कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। हालांकि, यह स्पष्ट है कि बहुत अधिक मछली खाने से शरीर में पीसीबी बढ़ जाएगा और इससे कैंसर हो सकता है।

* आपको यह भी बता दें कि कई बार मछली में टॉक्सिन्स होते हैं जो डायबिटीज का कारण बनते हैं। इसलिए गलती से भी मछली का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए। दरअसल, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह वजन बढ़ने का कारण हो सकता है।