Health News- कान कब साफ करें ? इसका सही तरीका क्या है?

 
Hs

दोस्तो कान शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। कान के अच्छे स्वास्थ्य के लिए कान की सफाई जरूरी है। कान में अत्यधिक वैक्स गंभीर समस्या पैदा कर सकता है।

कभी-कभी चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है। हालांकि, कुछ लोगों को अपने कान सामान्य से अधिक बार साफ करने की आदत होती है। कुछ लोग बिना वजह ईयरबड्स या किसी और चीज से लगातार अपने कान साफ ​​करते रहते हैं। लगातार कान की सफाई भी खतरनाक है। इससे कई समस्याएं हो सकती हैं।

Hs

कान में गंदगी का जमा होना आम बात है। इससे बाहरी धूल और गंदगी के कण कान के अंदर नहीं जा पाते हैं। साथ ही बैक्टीरिया नहीं पनप पाते हैं। यह संक्रमण के खतरे को भी कम करता है। कभी-कभी कान में अचानक दर्द होने लगता है, सुनने की क्षमता कम हो जाती है, तो कान के मैल को साफ करना जरूरी हो जाता है। हालांकि, कुछ लोग बिना किसी कारण के अपने कानों को रुई की कलियों या अन्य वस्तुओं की मदद से लगातार साफ करते हैं। लेकिन लगातार ऐसा करने से परेशानी हो सकती है।

कान में मल का अत्यधिक जमा होना या कान में मल का कम होना दोनों ही हानिकारक होते हैं। ईयरवैक्स की सफाई न करने या ईयरवैक्स को बेवजह साफ न करने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। यदि आपके कानों में कम समय में अधिक मल जमा हो जाता है, तो यह किसी बीमारी का संकेत हो सकता है। ऐसे मामलों में, तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है। कान के मैल को तभी साफ करना जरूरी है जब कान में दर्द होने लगे, सीटी की आवाज बार-बार हो, सुनने की क्षमता कम हो। हालाँकि, आप अपने कानों को स्वयं साफ करने के बजाय, कान की समस्याओं और स्वच्छता पर किसी ENT विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं।

Hs

नियमित रूप से कान की सफाई की आदत के कारण मल अक्सर कान के अंदर तक चला जाता है। इससे समस्या बेहतर होने की बजाय और बढ़ सकती है। कान को बार-बार रुई की कली या अन्य वस्तु से साफ करने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।