Health News- यूरिक एसिड और थायरॉइड के मरीज इस सब्जी से रहें दूर, जानें क्या हो सकता है खाने से नुकसान

 
Hs

आज के समय में लोगो की व्यस्त जीवनशैली और खराब खान-पान से ना केवल बुजुर्गों में बल्कि युवओं में भी कई प्रकार की बीमारियां होने लग गई हैँ। जिसमें सबसे ज्यादा पाई जाने वाली बिमारियां हैं हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, यूरिक ऐसिड, थायराइड हैं।

आज से 2 दशक पहले यूरिक एसिड और थायरॉइड की समस्या से केवल बुजुर्ग ही पीड़ित थे, वहीं आज युवा भी इस बीमारी से पीड़ित हैं।

HS

एक शोध में पाया गया हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायराइड रोग विकसित होने की संभावना दोगुनी होती है। 18 से 35 वर्ष की आयु की महिलाओं को विशेषकर गर्भवती महिलाओं को थायराइड  होने की संभवाना ज्यादा होती हैं इस लिए इस रोग से बचने के लिए विशेष ध्यान रखना चाहिए।

इसके अलावा हम यूरिक एसिड की बात करें तो  रक्त में यूरिक एसिड एक प्रकार का रसायन होता है जो शरीर में प्यूरीन नामक प्रोटीन के टूटने से बनता है। अधिकांश यूरिक एसिड गुर्दे द्वारा फ़िल्टर किए जाने के बाद शरीर से बाहर निकल जाता है, लेकिन जब गुर्दे इस अपशिष्ट उत्पाद को फ़िल्टर नहीं कर पाते हैं, तो यह यूरिक एसिड क्रिस्टल के रूप में टूट जाता है और हड्डियों में जमा हो जाता है, जिससे गठिया हो जाता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि थायराइड और यूरिक एसिड से बचाव के लिए किन खाद्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए।

फूलगोभी और पत्ता गोभी:

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार थायराइड की समस्या वाले मरीजों को पत्ता गोभी और फूलगोभी का सेवन कम मात्रा में नहीं करना चाहिए। साथ ही ब्रोकली इन मरीजों के लिए खतरनाक हो सकती है।

उच्च यूरिक एसिड वाले रोगियों को पत्ता गोभी और मशरूम का सेवन नहीं करना चाहिए। ये दोनों सब्जियां प्यूरीन से भरपूर होती हैं

Hs

थायराइड के मरीजों को कॉफी और ग्लूटेन मुक्त खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए, जबकि यूरिक एसिड के रोगियों को रेड मीट से बचना चाहिए।

बीन्स, मटर और उच्च प्रोटीन आहार से बचना चाहिए, विशेष रूप से उच्च प्यूरीन सामग्री वाले।