Health News- क्या लहसुन, चुकंदर और तरबूज खाने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है?

 
hs

अगर आज की बात करें तो लोगो की जिदंगी बड़ी ही व्यस्त हैं, लोगो को पैसे, प्यार, रिश्ते, कोरोना ने ऐसा परेशान कर रखा हैं कि वो अपनी हेल्थ पर ध्यान नहीं दें पाते हैं, क्योंकि इस भागदौड़ भरी जिदंगी में लोग अपने खान पान के उपर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते हैं, जिसकी वजह से उन्हें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता हैं, जिसमें आज के युवाओं को ब्ल़ड प्रेशर की बीमारी से जूझ ना पड़ता हैं, ऐसे में आप कई तरह के घरेलू नुस्खों का प्रयोग कर करते हैं। लेकिन आपके मन में एक सवाल हमेशा उठता रहता हैं कि क्या लहसुन, चुकंदर, तरबूज खाने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है? यदि रक्तचाप को नियंत्रित रखाना चाहते हैं, तो लहसुन, चुकंदर और तरबूज जीवन रक्षक पदार्थ हो सकते हैं।

क्या वाकई ये तीन चीजें ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखती हैं? आइए जानते हैं कि कैसे आपको अपने बल्ड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए लहसुन, चुकंदर और तरबूज का प्रयोग करना चाहिए। इसके प्रयोग के लिए हमने लोगो को 3 समूह में बांटा  जिसके बाद

hs

पहले समूह को प्रतिदिन लहसुन की दो कली खिलाई जाती थी।

दूसरे समूह को प्रतिदिन तरबूज के दो बड़े टुकड़े दिए गए।

तीसरे समूह को दिन में दो चुकंदर खाने को कहा गया।

तीन हफ्तों में, प्रत्येक समूह ने बारी-बारी से तीन आइटम खाए।

इन तीनों पदार्थों के सेवन से रक्त वाहिकाओं का विस्तार होता है और रक्त का प्रवाह अधिक आसानी से होता है। लेकिन इन तीनों पदार्थों का प्रभाव एक समान नहीं होता।

hs

परीक्षा परिणाम क्या हैं?

प्रत्येक स्वयंसेवक का रक्तचाप दिन में दो बार मापा जाता था। हर बार तीन आंकड़े दर्ज किए गए और उनका औसत निकाला गया।

तभी तीनों पदार्थों के सटीक प्रभाव को समझा जा सकता है। यह स्पष्ट हो गया कि कौन सा पदार्थ सबसे प्रभावी था।

इस प्रयोग के दौरान सभी स्वयंसेवक सामान्य जीवन जी रहे थे। इन सभी का औसत रक्तचाप 133.6 मिमी दर्ज किया गया। चुकंदर खाने वाले समूह का रक्तचाप 128.7 और लहसुन खाने वाले समूह का 129.3 था।

उच्च रक्तचाप और हृदय रोग के बीच संबंध पर किए गए शोध से पता चला है कि यदि रक्तचाप लगातार गिरता रहे तो स्ट्रोक और दिल के दौरे के जोखिम को 20% तक कम किया जा सकता है।

तरबूज का असर महसूस नहीं हुआ। नतीजतन, रक्तचाप 128.8 दर्ज किया गया। ऐसा इसलिए क्योंकि तरबूज में पानी होता है। सक्रिय अवयवों की संख्या कम है।

तो अगर आपको ब्लड प्रेशर की बीमरी हैं, तो आज ही इन तीनों का प्रयोग कर सकते हैँ।