आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व पवन दिवस?

 
cc

दुनियाभर में आज ग्लोबल विंड डे मनाया जा रहा है। इसे विश्व पवन दिवस, विश्व पवन दिवस और विश्व पवन दिवस भी कहा जाता है। यह एक विश्वव्यापी आयोजन है, जो प्रतिवर्ष 15 जून को ही मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य पवन ऊर्जा और इसके उपयोग के बारे में जागरूकता को और भी बढ़ाना होना चाहिए। पवन ऊर्जा के महत्व और यह कैसे दुनिया को बेहतर बना सकता है, इसके लिए पूरे विश्व में यह दिन मनाया जाता है। बिना हवा के जीवन कैसा होगा यह सोचना भी नामुमकिन सा लगता है। हवा है तो जीवन है। आज भी दुनिया भर के वैज्ञानिक कई अन्य ग्रहों पर हवा की तलाश कर रहे हैं। ग्लोबल विंड डे पर 75 से अधिक देशों में कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

वैश्विक पवन दिवस का आयोजन यूरोपीय पवन ऊर्जा संघ और वैश्विक पवन ऊर्जा परिषद (GWEC) और राष्ट्रीय संघों द्वारा किया जाता है। इस दिन की स्थापना आम लोगों को पवन ऊर्जा और इसके लाभों से परिचित कराने के लिए की गई थी। यह दिवस पहली बार 2007 में यूरोपीय पवन ऊर्जा संघ और वैश्विक पवन ऊर्जा परिषद द्वारा मनाया गया था। जिसके बाद 2009 में इसे विश्व स्तर पर मनाने का निर्णय लिया गया। 2009 तक कोई विश्व पवन दिवस या वैश्विक पवन दिवस नहीं था। 2009 से यह दिन अधिक समावेशी हो गया है और इस दिन के लोगों को बुलाया गया था।
 
दुनिया भर के लोगों को पवन ऊर्जा के बारे में जागरूक करने और हमारी ऊर्जा प्रणालियों को नया आकार देने, हमारी अर्थव्यवस्थाओं को डीकार्बोनाइज करने और नौकरियों और विकास को बढ़ाने के लिए वर्षों से विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। यह दिन 2007 से प्रतिवर्ष मनाया जाता है।