Vastu Tips: घर कि दक्षिण दिशा में इन चीजों का होना बन सकता है आपकी कंगाली का कारण, आइए जाने!

 
Puja ghar
अगर घर का सामान सही तरीके से और सही दिशा में रखा जाए तो इसके सकारात्मक परिणाम (Positive Result) प्राप्त होते हैं. वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार घर में सामान रखने के लिए हर एक दिशा (Direction) का अपना महत्व है. यदि घर का कोई सामान किसी भी जगह रख दिया जाए तो इससे न सिर्फ घर में आर्थिक तंगी आती है, बल्कि परिवार के सदस्यों में कलह का कारण भी बनती है. खासतौर पर घर की दक्षिण दिशा में ये 5 सामान रखने से बचना चाहिए। आइए इस लेख के मध्य से जानते है कि कोन - कोन सी है वो 5 चीजे !
1. पूजा घर :
Puja ghar
घर की दक्षिण दिशा में कभी भी पूजा घर नहीं होना चाहिए, क्योंकि दक्षिण दिशा घर के मृत पूर्वजों की दिशा मानी जाती है और इस दिशा में बैठकर पूजा करने से पूर्ण फल प्राप्त नहीं होता. जिससे घर में आर्थिक स्थिति खराब रहती है।
2. जूते चप्पल और स्टोर रूम :
घर की दक्षिण दिशा में कभी जूते चप्पल और स्टोर रूम नहीं होना चाहिए. इस दिशा में जूते-चप्पल रखने से पूर्वजों का अपमान होता है और आपके कई सारे काम बिगड़ सकते हैं।
3. बाथरूम :
घर के अंदर और घर के बाहर दक्षिण दिशा में पानी वाली कोई चीज नहीं होनी चाहिए. जैसे बाथरूम, गार्डन या फिर स्विमिंग पूल. क्योंकि दक्षिण दिशा को यम और पितरों की दिशा मानी जाती है. मान्यता के अनुसार दक्षिण दिशा से शक्ति मिलती है. पानी अग्नि तत्व को समाप्त करने का कारक माना जाता है. जिससे घर का विनाश होना संभव है।
4. बेडरूम :
दक्षिण दिशा में बेडरूम नहीं होना चाहिए. इस दिशा में बेडरूम होने से नींद में बाधा होने के अलावा परिवार के सदस्य बीमार भी होते हैं. इस दिशा में कभी मदिरापान भी नहीं करना चाहिए. इससे पितृदोष लगता है।
5. किचन :
किचन भी घर की दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए. पितरों की दिशा होने की वजह से इस दिशा में खाना बनाने और खाना खाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. घर के सदस्य बीमार रहते हैं जिसके कारण अनावश्यक ही धन नष्ट होता है।