Travel Tips: आप भी बना रहे है घूमने का प्लान तो चुने बाबा बैद्यनाथ की नगरी के नाम से मशहूर देवघर के फेमस पर्यटक स्थल

 
Aa
वैसे तो भारत में घूमने के कई दार्शनिक स्थल हैं, लेकिन अगर आप झारखंड की यात्रा करने जा रहे हैं, तो आपको बता दें कि देवघर किसी महान दार्शनिक स्थल से कम नहीं है।यह शहर भारत के अन्य शहरों से बिल्कुल भिन्न है क्योंकि भगवान शिव के मंदिर तो देश में कई जगह हैं, लेकिन सावन के महीने में श्रद्धालुओं की भीड़ और कांवड़ियों का आना इसे खास बनाता है। झारखंड राज्य में स्थित प्रसिद्ध धार्मिक स्थल देवघर, भगवान शिव की नगरी के नाम से पूरे भारत में जाना जाता है। इस शहर को बाबाधाम की नगरी भी कहा जाता है। देवघर, झारखंड की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में भी फेमस है। आइए आज जानते हैं, यहां के फेमस आकर्षक स्थलों के बारे में-
1. बासुकीनाथ मंदिर :
Aa
भगवान शिव को समर्पित बासुकीनाथ मंदिर, देवघर-दुमका के रास्ते में स्थित एक पवित्र मंदिर है। यहां देश के कोने-कोने से लोग शिव की पूजा करने आते हैं। खासकर, सावन के महीने में श्रद्धालुओं की भीड़ यहां बढ़ जाती है। इस मंदिर परिसर में भगवान शिव और माता पार्वती का मंदिर ठीक एक-दूसरे के सामने स्थित है। मंदिर के द्वार शाम के समय खोल दिए जाते हैं क्योंकि ऐसा मानना है कि इस समय भगवान शिव और देवी पार्वती एक दूसरे से मिलते हैं। इसलिए शाम के समय भक्तों को मंदिर के फाटक से दूर जाने को कहा जाता है। इसके अलावा मंदिर परिसर में हिंदू धर्म के अन्य छोटे-छोटे कई मंदिर भी स्थित हैं, जो विभिन्न देवी-देवताओं को समर्पित हैं।
2. तपोवन :
देवघर से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित तपोवन में कई गुफाएं व पहाड़ियां हैं। यहां एक प्रसिद्ध शिव मंदिर भी है, जिसे तपोनाथ महादेव मंदिर कहा जाता है। कहते हैं, यहां ऋषि वाल्मीकि तपस्या करने आए थे। इस जगह पर आप पहाड़ों के अलावा मंदिर और पुरानी गुफाएं देख सकते हैं। अगर देवघर जा रहे हैं तो तपोवन देखने एक बार जरूर जाएं।
3. नौलखा मंदिर :
Aa
राधा-कृष्ण को समर्पित यह मंदिर लगभग 146 फीट ऊंचा है। कहते हैं, इस मंदिर के निर्माण की लागत 9 लाख रुपये थी, इसलिए इसका नाम नौलखा रख दिया गया। इस मंदिर की खूबसूरती और शांति श्रद्धालुओं को आकर्षित करती है। नौलखा मंदिर की बनावट वहां स्थित अन्य मंदिरों से काफी अलग और सुंदर है। इसलिए पर्यटक इस मंदिर को देखने एक बार जरूर आते हैं।
4. बैद्यनाथ मंदिर :
भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर को शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है। यह मंदिर अति प्राचीन है। कहते हैं, इसका निर्माण स्वयं विश्वकर्मा द्वारा किया गया है। इस मंदिर के ऊपरी भाग को कई बार बनवाया गया है, लेकिन मंदिर का गर्भगृह आज भी पुराना है। यहां हर साल सावन के महीने में श्रद्धालुओं की खूब भीड़ होती है। पूरे भारत से लोग यहां सावन के महीने में कांवड़ लेकर आते हैं और भगवान शिव को जल अर्पित करते हैं। 
5. नंदन पहाड़ :
नंदन पहाड़ देवघर में पहाड़ी की चोटी पर बना एक फन पार्क है, जो मनोरंजन के कई गतिविधियों से भरा हुआ है। यहां हर उम्र के लोग एन्जॉय कर सकते हैं। यह जगह इस शहर का फेमस पिकनिक स्पॉट भी है, जहां आप फैमिली व बच्चों के साथ छुट्टियों का मजा ले सकते हैं। यहां आप रोमांचक सवारी, टॉय ट्रेन और बोटिंग का मजा ले सकते हैं। नंदन पहाड़ से आप