यह है दुनिया का सबसे ऊंचा 'चिनाब ब्रिज' Photos देख कहेंगे- WOW

 
Chenab Bridge
सोमवार को केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने सोमवार को दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल चिनाब पुल के मेहराब की एक तस्वीर साझा की। फोटो में बादलों के ऊपर खूबसूरत पुल दिख रहा है। यह फोटो इतनी खूबसूरत हैं कि आप भी इसे देखकर खुश हो जाएंगे। जम्मू और कश्मीर के रियासी जिले में स्थित चिनाब पुल, 1,315 मीटर लंबा है और इसे कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है। इस फोटो में आस-पास में ऊंचे पहाड़ दिख रहे हैं। 
सोमवार को केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने सोमवार को दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल चिनाब पुल के मेहराब की एक तस्वीर साझा की। फोटो में बादलों के ऊपर खूबसूरत पुल दिख रहा है। यह फोटो इतनी खूबसूरत हैं कि आप भी इसे देखकर खुश हो जाएंगे। जम्मू और कश्मीर के रियासी जिले में स्थित चिनाब पुल, 1,315 मीटर लंबा है और इसे कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है। इस फोटो में आस-पास में ऊंचे पहाड़ दिख रहे हैं।    इस पुल को लगभग 27949 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। इसे कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है. चिनाब पुल को नदी से 359 मीटर ऊपर बनाया गया है. इसे दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल होने का रिकॉर्ड मिला है. बता दें कि यह फ्रांस में एफिल टॉवर (Eiffel Tower in France) से भी 35 मीटर ऊंचा है। रेल मंत्रालय के मुताबिक, पुल को बनाने में 'टेकला' सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया है. इसके अलावा, बताया जा रहा है कि इस पुल का संरचनात्मक स्टील -10 डिग्री सेल्सियस तक बर्दाश्त कर सकता है. मतलब जम्मू-कश्मीर के मौसम का इस ब्रिज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और ब्रिज बिना किसी कठिनाई के चलता रहेगा. 'चिनाब ब्रिज' नाम से मशहूर यह ब्रिज दिसंबर 2022 तक रेल यातायात के लिए चालू हो सकता है।    केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने फोटो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा 'बादलों के ऊपर दुनिया का सबसे ऊंचा मेहराबदार चिनाब ब्रिज' और संबित पात्रा ने तस्वीर शेयर करते हुए इसे कैप्शन में लिखा 'रियासी, जम्मू-कश्मीर में 1315 मीटर लंबे चिनाब पुल मेहराब की क्या शानदार तस्वीर है. पुल वास्तव में एक इंजीनियरिंग चमत्कार है. यह पुल नदी तल से 359 मीटर की ऊंचाई पर खड़ा है और यह एफिल टावर से भी ऊंचा होगा. इस पुल का उद्देश्य कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देना है।
इस पुल को लगभग 27949 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। इसे कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है. चिनाब पुल को नदी से 359 मीटर ऊपर बनाया गया है. इसे दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल होने का रिकॉर्ड मिला है. बता दें कि यह फ्रांस में एफिल टॉवर (Eiffel Tower in France) से भी 35 मीटर ऊंचा है। रेल मंत्रालय के मुताबिक, पुल को बनाने में 'टेकला' सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया है. इसके अलावा, बताया जा रहा है कि इस पुल का संरचनात्मक स्टील -10 डिग्री सेल्सियस तक बर्दाश्त कर सकता है. मतलब जम्मू-कश्मीर के मौसम का इस ब्रिज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और ब्रिज बिना किसी कठिनाई के चलता रहेगा. 'चिनाब ब्रिज' नाम से मशहूर यह ब्रिज दिसंबर 2022 तक रेल यातायात के लिए चालू हो सकता है। 
Aa
केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने फोटो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा 'बादलों के ऊपर दुनिया का सबसे ऊंचा मेहराबदार चिनाब ब्रिज' और संबित पात्रा ने तस्वीर शेयर करते हुए इसे कैप्शन में लिखा 'रियासी, जम्मू-कश्मीर में 1315 मीटर लंबे चिनाब पुल मेहराब की क्या शानदार तस्वीर है. पुल वास्तव में एक इंजीनियरिंग चमत्कार है. यह पुल नदी तल से 359 मीटर की ऊंचाई पर खड़ा है और यह एफिल टावर से भी ऊंचा होगा. इस पुल का उद्देश्य कश्मीर घाटी से कनेक्टिविटी को बढ़ावा देना है।