किसान ने देखा कि एक छोटा हाथ जमीन से निकल रहा है, जब उसने उसे खोदा तो उसके होश उड़ गए

 
vv

साबरकांठा : गुजरात के साबरकांठा में कुछ ऐसा हुआ जिसे जानकर आपकी रूह कांप जाएगी. दरअसल, एक बच्चे को खेत में जिंदा दफना दिया गया, लेकिन उसे कुछ नहीं हुआ। हां, न तो जानवरों ने उसे नुकसान पहुंचाया और न ही मिट्टी से दबने से उसे कोई खास नुकसान हुआ। मिली जानकारी के मुताबिक वह बिल्कुल ठीक हैं. वहीं, डॉक्टरों की मानें तो उन्हें सांस लेने में थोड़ी दिक्कत हो रही है, हालांकि सबसे अहम बात यह है कि लोग ऐसा कैसे कर सकते हैं. जी हां, आखिर नवजात को क्या दिक्कत है कि लोगों को उसे जिंदा दफनाना पड़ जाए।

घटना गुजरात के साबरकांठा जिले की बताई जा रही है और मिली जानकारी के अनुसार यहां किसी ने एक नवजात को खेत में दफना दिया. खेत का मालिक जब वहां पहुंचा तो देखा कि यह नवजात के हाथ जैसा लग रहा है, जिसके बाद उसने मिट्टी हटाकर नवजात शिशु को बाहर निकाला। दरअसल, साबरकांठा जिले के गाम्बोई गांव में गुरुवार को एक नवजात को खेत में जिंदा दफना दिया गया. खेत मालिक जब यहां पहुंचे तो नवजात का हाथ देखा, जिसके बाद उन्होंने मिट्टी हटाकर नवजात को बाहर निकाला। बच्चा लगातार रो रहा था, और उसके बाद, किसान ने एम्बुलेंस को बुलाया और उसे चेक-अप के लिए अस्पताल ले जाया गया।


बताया जा रहा है कि जमीन के अंदर दबे होने के कारण नवजात को सांस लेने में कुछ दिक्कत हो रही थी. हालांकि डॉक्टरों ने मासूम को अस्पताल में भर्ती कराया है और उसकी सेहत पर नजर रखे हुए है. उधर, मामले की जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची और नवजात के माता-पिता की तलाश शुरू कर दी. जी हाँ और अब पुलिस ने इस मामले में शिकायत दर्ज कर ली है और बच्चे के माता-पिता के खिलाफ बच्चे की हत्या के प्रयास का मामला भी दर्ज कर लिया है.