कैसे हुई विश्व संगीत दिवस की शुरुआत, जानिए इसका महत्व

 
vv

आज 'विश्व संगीत दिवस' है और देखा जाए तो संगीत का हमारे जीवन में बहुत गहरा महत्व है। संगीत ही है जिसने आज 'द वर्ल्ड म्यूजिक डे' पर संगीत जगत की तमाम बड़ी हस्तियों को साथ लाने का काम किया है शफकत अमानत अली, शान, कविता कृष्णमूर्ति, डॉ एल सुब्रमण्यम, जसबीर जस्सी, मामे खान और पीट लोकेट ने साथ लाने का काम किया है. दिग्गज सितारों की पसंद। ये सितारे अपनी सफलता का श्रेय रियाज को देते हैं और इस बात से यहां अवगत करा रहे हैं।

शफ़क़त अमानत अली और शान, जो बॉलीवुड के दिग्गज गायकों में से हैं, ने भी चर्चा के दौरान कहा है कि, जो कोई भी मुखर संगीत, वाद्ययंत्र, प्रदर्शन आदि से जुड़ा है, उसे अपनी प्रतिभा को और निखारने के लिए हर दिन अभ्यास करना आवश्यक है। वही रियाज कहते हैं। जो लोग जीवन में संगीत के क्षेत्र में अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं, उनके लिए अभ्यास करना बहुत जरूरी है।
 
रोज रियाज करने से न सिर्फ आपकी आवाज में लय आ जाती है बल्कि धुन की लय के उतार-चढ़ाव को भी ठीक कर देती है। वहीं एक ही स्वर में सांस में राज करने या होठों को बंद करने और गले से आवाज निकालने से आपके तानवाला गुण मजबूत होता है। दूसरे शब्दों में आप कह सकते हैं कि इससे गला खुल जाता है। वहीं कम नोटों का रियाज भी हर स्तर से आवाज में लचीलापन लाने में मददगार है।