Health News: नाक से खून बहना है इन बड़ी बीमारियों की निशानी, समय रहते सावधान हो जाएं

 
ff

सर्दी और गर्मी दोनों में ही खून या नाक से खून आना आम बात है। जी हां और नाक से खून बहने की समस्या को अंग्रेजी में नोज ब्लीडिंग और मेडिकल भाषा में एपिस्टेक्सिस कहते हैं। आपको बता दें कि बहुत गर्म या बहुत ठंडे मौसम के कारण नाक से खून बहने की समस्या हो सकती है। जी हां और इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति की नाक से अचानक खून गिरने लगता है। ऐसे में कई बार लोग अपना या दूसरों का खून देखकर घबरा जाते हैं और उन्हें चक्कर आने की समस्या भी होने लगती है. वैसे आमतौर पर सर्दियों में रक्तस्राव की समस्या किसी बीमारी या सांस लेने के रास्ते में अत्यधिक शुष्कता के कारण भी हो सकती है। लेकिन इसके अलावा भी नाक से खून आने के कई कारण हो सकते हैं और इन कारणों में ब्लड प्रेशर का तेजी से बढ़ना और गिरना, ब्लड कैंसर या नाक में ट्यूमर आदि शामिल हैं।


 
नाक से खून आने के सामान्य कारण-

नाक में फंसी कोई विदेशी वस्तु।
नाक की दवाएं जैसे कोकीन
एलर्जी
नाक में चोट
लगातार छींकना
नाक में उंगली डालना
ठंडी हवा के कारण
ऊपरी श्वास पथ के संक्रमण
एस्पिरिन जैसे ब्लड थिनर की उच्च खुराक लेना
चिलचिलाती धूप से सीधे एसी रूम में आ रहे हैं
नाक में ट्यूमर
अत्यधिक शराब के सेवन से

नाक से खून आने के अन्य कारण-

उच्च रक्त चाप
खून बहने की अव्यवस्था
रक्त के थक्के विकार
ब्लड कैंसर होना

रक्तस्राव होने पर इन बातों का रखें ध्यान- खून निकलने के तुरंत बाद रोगी को सबसे पहले किसी ठंडी जगह पर ले जाना चाहिए। उसके बाद उसके पैरों से जूते और जुराबें हटा देना चाहिए, ताकि शरीर की गर्मी तलवों से बाहर निकल सके। इसके अलावा नाक से खून आने पर तुरंत बैठ जाएं और आगे की ओर झुक जाएं। इस दौरान अपना सिर न उठाएं, ऐसा करने से रक्त फिर से नाक में प्रवेश कर सकता है। नाक के ऊपर रुमाल या टिश्यू पेपर रखें ताकि वह खून को सोख ले। इस दौरान अंगूठे और तर्जनी की मदद से नाक की जड़ को कुछ देर तक दबाए रखें और इसके अलावा नाक से खून आने की स्थिति में इस बात का ध्यान रखें कि नाक से सांस लेने की बजाय मुंह से सांस लें.