Health Care Tips: कान में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए अपनाए ये घरेलू उपाय, मिलेगी राहत !

 
Pyaj
कान में दर्द होने का सबसे बड़ा कारण बैक्टीरिया है। कान में दर्द और भी कई कारणों की वजह से हो सकता है जैसे कान में पानी चला जाना, जमा हुआ कान का मैल, कान पर अधिक दबाव पड़ना, एलर्जी, सर्दी-जुकाम, स्किन में किसी तरह के इंफेक्शन की वजह से भी काम में दर्द हो सकता है। कान का दर्द एक ऐसी परेशानी है जिसकी वजह से खाना-पीना और सोना सब मुहाल हो जाता है। 
कुछ लोगों की आदत होती है वो नहाते वक्त कानों में अंदर तक पानी देकर साफ करते हैं जिससे पानी कान के अंदर तक चला जाता है और कान के अंदर की नलिका गीली रहने लगती है। कान के अंदर की नलिका गीली रहने और फंगल संक्रमण के खतरे के कारण ये दर्द ज्यादा परेशान करता है। आप भी अक्सर कान के दर्द से परेशान रहते हैं तो ये लेख आपके लिए काम का साबित हो सकता है। इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे ऐसे घरेलू उपाय जिन्हे अपनाकर आप कान के दर्द से राहत पा सकते है। आइए जानते है इन तरीकों के बारे में -
* लहसुन का तेल लगाएं :
Lahushan
कान के दर्द से राहत दिलाने में लहसुन का तेल असरदार है। एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर लहसुन संक्रमण को कंट्रोल करेगा साथ ही कान के दर्द से भी छुटकारा दिलाएगा। लहसुन का तेल बनाने के लिए आप लहसुन की कलियों को सरसों के तेल में डालकर गर्म करें। जब लहसुन भूरा हो जाए तो गैस से उतार कर छान लें। तेल गुनगुना होने पर उसकी 2-3 बूंदें कान में डालें। लहसुन का तेल कान के दर्द से छुटकारा दिलाएगा।
* प्याज का रस :
Pyaj
प्याज में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण कान में इंफेक्शन के खतरे को कम करते हैं। प्याज का रस इस्तेमाल करने से कान के दर्द से राहत मिलती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक कान में दर्द होने पर एक चम्मच प्याज के रस को हल्का गुनगुना कर लें और दिन में दो बार कान में 2 से 3 बार डालें कान के दर्द से राहत मिलेगी।
* ठंडी या गर्म सेक से सिकाई करें :
कान के दर्द से परेशान हैं तो कान की सिकाई करें। सिकाई करने के लिए आप गर्म पानी से या फिर बर्फ से सिकाई कर सकते हैं। सिकाई करने के लिए आप हीटिंग पैड या फिर आइस पैड का सहारा ले सकती है। ठंडा- गर्म पैड नहीं होने पर आप कपड़े को गर्म या ठंडे पानी में भीगोकर उससे सिकाई कर सकते हैं।